1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

एमईआरएस से मौत के और मामले

सऊदी अरब के स्वास्थ्य मंत्रालय ने एमईआरएस वायरस के कारण 102 मौतों की पुष्टि की है. मिस्र तक पहुंच चुके इस वायरस से मरने वालों की संख्या में लगातार वृद्धि ने चिंता पैदा कर दी है.

सऊदी अरब स्वास्थ्य मंत्रालय ने छब्बीस नए मामलों की पुष्टि की है. मंत्रालय के अनुसार रविवार को चौबीस घंटों में एमईआरएस यानि मिडिल ईस्ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम वायरस से संक्रमित सोलह नए मामले सामने आए हैं. मंत्रालय की वेबसाइट पर जारी किए गए बयान में मरने वालों की संख्या दस बताई गई है. दो साल पहले पहली बार देश में इस वायरस के फैलने बारे में पता चला था. अब तक एमईआरएस संक्रमण के कारण 102 लोग मारे गए हैं. एमईआरएस वायरस के कारण जान गंवाने का ताजा मामला एक शिशु का बताया गया है.

विशेष इंतजाम

अब तक एमईआरएस से संक्रमित कुल 339 मामले सामने आए हैं. सऊदी अरब इस वारयस के बुरी तरह चपेट में है. स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश के उत्तर पश्चिमी शहर ताबुक में एक अस्पताल में कार्यरत चार कर्मचारियों को भी संक्रमित पाया गया है.

वायरस के फैलने की खबरों के बाद से लोगों में चिंता है. संक्रमण फैलने की खबरों के बाद इस महीने जेद्दाह के एक अस्पताल में चार डॉक्टरों ने एमईआरएस वायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज से मना कर दिया, जिसके बाद उन्हें इस्तीफा देना पड़ा. इस मामले के बाद से यह अस्पताल बंद है.

देश के शासक शाह अब्दुल्लाह पिछले हफ्ते जेद्दाह पहुंचे जहां उन्होंने लोगों को सुरक्षा का आश्वासन दिया. उन्होंने एमईआरएस के बारे में फैल रही अफवाहों को रोकने और लोगों को सूझबूझ से काम लेने की हिदायत दी. किंग अब्दुल्लाह के बेटे और राष्ट्रीय सुरक्षा मंत्री कुंवर मिताब ने बताया कि विशेष चिकित्सकीय मदद के लिए जेद्दाह, रियाद और पूर्वी इलाके में तीन विशेष चिकित्सा केंद्रों का इंतजाम किया गया है.

हज से पहले चिंता

सालाना हज के लिए दुनिया भर से मुसलमान मक्का मदीना पहुंचते हैं. इस साल हज सितंबर के महीने में होना है. हज के मौके से कुछ महीने पहले ही देश में एमईआरएस वायरस से चिंता की लहर है. श्वास से जुड़े संक्रमण वाले इस जानलेवा वायरस के कारण 2003 में करीब 800 लोगों की मौत के मामले सामने आए थे. हालांकि इसका फैलना उतना आसान नहीं है.

अभी तक एमईआरएस से निपटने के लिए टीका विकसित नहीं किया जा सका है, हालांकि इस वायरस से संक्रमित हुए हर व्यक्ति का बीमार होना भी जरूरी नहीं. शनिवार को मिस्र ने एमईआरएस से संक्रमित पहले मामले की पुष्टि की. यह संक्रमित व्यक्ति 27 साल का एक सिविल इंजीनियर है जो सऊदी अरब से मिस्र पहुंचा.

एसएफ/एएम (एएफपी, एपी)

संबंधित सामग्री