1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

एप्पल से मोटी सैमसंग की सैलरी

सैमसंग मोबाइल के प्रमुख पर पैसों की बरसात होती है. तनख्वाह, भत्ते और सुविधाओं के लिहाज से सैमसंग ने मोबाइल हेड को इतना पैसा दिया है कि एप्पल जैसी दिग्गज अमेरिकी कंपनी भी पीछे छूट गई.

दक्षिण कोरिया के नए नियमों के तहत सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स ने अपने मोबाइल बिजनेस के हेड जेके शिन को दिये गए पैसे का जिक्र किया. सैमसंग ने शिन को तनख्वाह, भत्ते और बोनस मिलाकर बीते साल 58 लाख डॉलर (34.84 करोड़ रुपये) दिये. अमेरिकी कंपनी एप्पल के प्रमुख टिम कुक को बीते साल 42.5 लाख डॉलर मिले.

शिन ने 2009 में सैमसंग के मोबाइल कारोबार की कमान संभाली. उस वक्त बाजार में सिर्फ एप्पल के आईफोन की चर्चा थी. एप्पल के अलावा कोई दूसरी कंपनी स्मार्टफोन बाजार में नहीं थी. शिन की अगुवाई में सैमसंग ने गैलेक्सी मॉडल के साथ स्मार्टफोन बाजार में कदम रखा और अब सैमसंग बिक्री के लिहाज से दुनिया की सबसे बड़ी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी है.

Tim Cook von Apple stellt neues Tablet vor

टिम कुक

एप्पल आईफोन के ज्यादातर उपकरण सैमसंग से ही बनवाता था. सैमसंग ने इसी ज्ञान का फायदा उठाया और आईफोन जैसा स्मार्टफोन बना डाला. एप्पल का आरोप है कि सैमसंग ने उसकी नकल की. दोनों कंपनियों के बीच कुछ देशों में पेटेंट के मुकदमे भी चल रहे हैं. कानूनी झगड़े के बीच आज सैमसंग अच्छे और सस्ते स्मार्टफोन बनाना सीख चुका है. टेबलेट बाजार में भी वह एप्पल को कड़ी टक्कर दे रहा है.

इस सफलता का श्रेय कंपनी शिन और मोबाइल बिजनेस में उनके सह प्रमुख क्वोन ओह-ह्युन को देती है. मोटी तनख्वाह के जरिए सैमसंग युवा और प्रतिभाशाली लोगों को यह संदेश देने की कोशिश कर रहा है कि उनके यहां हुनर की ज्यादा कद्र है.

दक्षिण कोरिया ने बीते साल के आखिर में यह कानून बनाया है कि शेयर बाजार में सूचीबद्ध कंपनियों को अपने शीर्ष अधिकारियों के वेतन और भत्तों का ब्योरा सार्वजनिक करना होगा.

ओएसजे/एमजे (रॉयटर्स)

संबंधित सामग्री