1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

एप्पल ने कमाया रिकॉर्ड मुनाफा

मैक कंप्यूटर, आईफोन और आईपॉड बनाने वाली कंपनी एप्पल को 2010 की आखिरी तिमाही में जबरदस्त मुनाफा हुआ. साल के आखिरी तीन महीनों में 26 अरब डॉलर से ज्यादा की कमाई और मुनाफा 6 अरब डॉलर. कंपनी सीईओ स्टीव जॉब्स छुट्टी पर.

default

एप्पल कंपनी के रिकॉर्ड मुनाफे की खबर ऐसे समय में आई है जब कंपनी के चीफ एक्जेक्यूटिव स्टीव जॉब्स ने सेहत की वजह से छुट्टियों पर जाने की घोषणा की है. जॉब्स अनिश्चितकाल के लिए छुट्टी पर जा रहे हैं जिसके चलते कंपनी की जिम्मेदारी चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर टिमोथी कुक के कंधों पर आ गई है. कंपनी की कमाई से जुड़ी रिपोर्ट पर जॉब्स ने कहा, "मैक, आईफोन और आईपैड की जबरदस्त बिक्री हुई है और आखिरी तिमाही में त्योहार के सीजन में जबर्दस्त मुनाफा हुआ."

iPhone Contentbanner

आईफोन

सब कुछ बिका

स्टीव जॉब्स का कहना है कि कंपनी अपने ग्राहकों को नए विकल्प और सुविधा देने के लिए कोशिशों में जुटी है. इसके तहत इस साल आईफोन-4 का नया वैरिएंट बाजार में आएगा जिसका लोग बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं. एप्पल कंपनी नेल 2010 की आखिरी तिमाही में 41 लाख से ज्यादा मैकिन्तोश कंप्यूटर बेचे जबकि आईपॉड की बिक्री में थोड़ी गिरावट आई और करीब दो करोड़ आईपॉड खरीदे गए.

एप्पल ने इस समयावधि में 73 लाख आईपैड टेबलेट कंप्यूटर बेचे. 2010 की आखिरी तिमाही के लिए कंपनी का मुनाफा 2009 की तुलना में दोगुना हो गया है. 2009 के आखिरी तीन महीनों में कंपनी को 3.38 अरब डॉलर का फायदा हुआ. एप्पल के शानदार नतीजों से खुश चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर पीटर ओपनहाइमर ने कहा है कि कंपनी के नतीजों से वह बेहद खुश हैं. ओपनहाइमर ने संभावना जताई है कि 2011 की पहली तिमाही में कंपनी की कुल कमाई करीब 22 अरब डॉलर होगी.

Flash-Galerie iPad Deutschland

आईपैड पाकर झूमे लोग

कहां से आया मुनाफा

एप्पल को रिकॉर्ड मुनाफा त्योहारों के सीजन में हुआ है जब खरीदारों ने जमकर मैक कंप्यूटर, आईफोन्स और आईपैड को खरीदा. कंपनी के मुताबिक दिसंबर को खत्म हुई तिमाही में उसे 26.74 अरब डॉलर की कमाई हुई जिसमें मुनाफा करीब 6 अरब डॉलर है. कंपनी ने रिकॉर्ड मुनाफे पर खुशी तो जाहिर की है लेकिन उसके सीईओ स्टीव जॉब्स की तबीयत पर कोई बयान कंपनी की ओर से जारी नहीं किया गया है.

फिर छुट्टी पर जॉब्स

अनिश्चितकाल के लिए छुट्टी पर जाने की घोषणा करने वाले स्टीव जॉब्स 2004 के बाद तीसरी बार ऐसा कर रहे हैं. 2004 में जॉब्स कैंसर के इलाज के लिए छुट्टी पर गए और फिर 2009 में लीवर प्रत्यारोपण के लिए उन्होंने अवकाश लिया. वह पहले से कमजोर दिखाई देते हैं लेकिन हाल के समारोहों में उनकी सेहत में सुधार नजर आता दिखा है. विश्लेषकों का कहना है कि स्टीव जॉब्स एप्पल कंपनी को काबिल मैनेजरों के भरोसे छोड़कर जा रहे हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: वी कुमार

DW.COM

WWW-Links