1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

एनकाउंटर में मारे गये सैफुल्लाह के पिता पर गृहमंत्री को गर्व

गुरुवार को भारतीय संसद का बजट सत्र दोबारा शुरू हुआ. देश के गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भोपाल-उज्जैन ट्रेन ब्लास्ट और लखनऊ एनकाउंटर को लेकर सदन में बयान दिया

भारत के गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि उन्हें लखनऊ में हुई मुठभेड़ में मारे गए संदिग्ध चरमपंथी सैफुल्लाह के पिता पर गर्व है.

सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश में भोपाल-उज्जैन पैंसेजर ट्रेन विस्फोट में 10 लोग घायल हुये थे. पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. अब तक कि जांच से पता चला है कि विस्फोट में आईइडी का इस्तेमाल किया गया था.

केंद्रीय एजेंसियों की जांच के आधार पर तीन संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया और उत्तर प्रदेश में छापेमारी की गई. वहां सैफुल्लाह की जानकारी मिली. राजनाथ सिंह ने बताया कि उसे भी गिरफ्तार करने की कोशिश की गई लेकिन उसने आत्मसमर्पण नहीं किया और कई घंटों की मुठभेड़ के बाद सुरक्षा बलों ने उसे मार गिराया.

इस दौरान गृहमंत्री ने सैफुल्लाह के पिता के बयान का भी जिक्र किया. उन्होंने बताया कि सैफुल्लाह के पिता सरताज ने उसके शव को लेने से इनकार कर दिया और कहा कि जो बेटा देश का न हो सका वो उनका कैसा होगा. उन्होंने कहा, "सदन को सरताज पर गर्व है".

बजट सत्र के दूसरे चरण में प्रधानमंत्री मोदी ने जीएसटी के प्रारित होने पर उम्मीद जताई. उन्होंने कहा कि संसद में बजट सत्र का दूसरा चरण शुरू हो रहा है, उम्मीद है कि चर्चा और बहस का स्तर उठेगा. सरकार का जोर जीएसटी पर रहेगा क्योंकि केंद्र सरकार हर हाल में इसे 1 जुलाई से लागू करना चाहती है. इस सत्र में सरकार मातृत्व अवकाश विधेयक, सेरोगेसी बिल को भी पेश किया जाना है.

वहीं विपक्ष नोटबंदी से जुड़े मसले को उठा सकता है. विपक्षी नेता पहले भी सरकार पर जीडीपी से आंकड़ो के हेर-फेर का आरोप लगा चुके हैं. इसके अतिरिक्त हाल में दिल्ली विश्वविद्यालय के रामजस कॉलेज के घटनाक्रम पर भी सदन में बात हो सकती है. इसके पहले कांग्रेस और टीएमसी ने मिड डे मील स्कीम के लिए आधार कार्ड को अनिवार्य बनाये जाने के खिलाफ सदन में चर्चा का नोटिस दिया है. हालांकि सरकार इस मामले पर सफाई दे चुकी है.

 

DW.COM

संबंधित सामग्री