1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

एक दूसरे से गदगद राहुल अन्ना

संसद में लोकपाल विधेयक आते ही एक तीर से कई शिकार करने की कवायद तेज हुई. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मार्गदर्शन के लिए अन्ना हजारे को शुक्रिया कहा है, तो राहुल की तारीफ में अन्ना की चिट्ठी भी दिखाई जा रही है.

हाल के चुनावों में चार राज्यों में करारी हार देखने के बाद संसद में लोकपाल विधेयक पर चर्चा हो रही है. बिल पर समाजवादी पार्टी और शिव सेना को छोड़ सभी पार्टियां चर्चा को तैयार हैं. लोकपाल को इस मुकाम तक पहुंचाने के लिए सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का आभार व्यक्त किया है. कांग्रेस उपाध्यक्ष को भेजे खत में अन्ना ने लोकपाल विधेयक के लिए उनके 'प्रतिबद्धता' की तारीफ की. इसके जबाव में राहुल गांधी ने कहा कि इस मुद्दे पर अन्ना के समर्थन से वह गदगद हैं.

चुनाव से पहले तारीफें

अन्ना हजारे का लिखा खत कांग्रेस ने मंगलवार को जारी किया. यह कदम राज्यसभा में बिल आने से ठीक पहले उठाया गया. खत रविवार को भेजा गया है. खत में अन्ना ने लिखा है कि जिस तरह से कांग्रेस और केंद्र ने लोकपाल बिल के मुद्दे को नकारा, उससे उन्हें दुख हुआ. लेकिन अब, "मैं लोकपाल और लोकायुक्त बिल संसद में पास कराने के लिए आपकी प्रतिबद्धता का स्वागत करता हूं. मेरी दरख्वास्त है कि जो मुद्दे चुने गए हैं और सेलेक्ट समिति ने उठाए हैं उन्हें भी बिल में शामिल करना चाहिए. ये मुद्दे समिति में शामिल सभी राजनीतिक पार्टियों की एकराय से तय किए गए हैं."

अन्ना ने यह भी कहा कि अगर संसद इस कानून को ज्यादा अधिकार देती है तो यह जनहित में होगा, "इस देश के लोग एक सक्षम लोकपाल का इंतजार कर रहे हैं." अन्ना ने खत की प्रतियां प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और राज्यसभा में सेलेक्ट कमेटी के प्रमुख को भी भेजी हैं.

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने इसके बाद खत का जवाब दिया. राहुल गांधी ने लिखा, "हम सब इस देश के लोगों को एक सक्षम और ताकतवर लोकपाल सिस्टम मुहैया कराने के लिए वचनबद्ध हैं. इस बड़े काम में हम आपकी भूमिका और आपके समर्थन के हम आभारी हैं."

अन्ना बनाम अरविंद

इससे पहले सोमवार को अन्ना हजारे ने कहा था कि वो किसी तरह भी कांग्रेस के संपर्क में नहीं हैं. अन्ना के मुताबिक रालेगण सिद्धी में अनशन से पहले उनकी एक बार विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद से बात हुई. अब कांग्रेस उनकी चिट्ठी जारी कर मामले को अलग रोशनी दे दी है.

अन्ना हजारे के पूर्व सहयोगी और आप पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल संसद में आ रहे लोकपाल प्रस्ताव से खासे नाराज हैं. केजरीवाल के मुताबिक इस बिल से तो "चूहा भी जेल नहीं जाएगा". दिल्ली विधानसभा चुनाव में 28 सीटें जीत कर बीजेपी और कांग्रेस को हैरान करने वाली आप लोकपाल के मुद्दे पर अन्ना से भी नाराज है. केजरीवाल का आरोप है कि अन्ना ने कमजोर बिल को समर्थन दिया है.

ओएसजे/एजेए (पीटीआई)

संबंधित सामग्री