1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

एक टीम में भारत-पाकिस्तान के धुरंधर

आईपीएल की तर्ज पर शुरू हो रही हॉकी लीग की नीलामी में स्टार भारतीय खिलाड़ी सरदार सिंह छाए. टीम इंडिया के कप्तान सरदार को 42 लाख रुपये में दिल्ली ने खरीदा. कुछ पाकिस्तानी खिलाड़ियों की बिक्री भी बढ़िया रही.

पाकिस्तान की तरफ से नीलामी में 15 खिलाड़ियों के नाम आए. इनमें कप्तान मोहम्मद इमरान, मोहम्मद वकास, हाशिम खान, गोलकीपर इमरान बट और दिग्गज पेनल्टी एक्सपर्ट सुहैल अब्बास भी थे. इन दिग्गजों को किसी ने नहीं खरीदा, सब न्यूनतम कीमत (बेस प्राइस) पर रहे.

हैरानी उस वक्त भी हुई जब लंदन ओलंपिक में भारतीय टीम की कप्तानी करने वाले सुनील छेत्री को भी किसी ने नहीं खरीदा. भारत के पेनल्टी कॉर्नर एक्सपर्ट संदीप सिंह के लिए कोई बोली नहीं लगी. संदीप 5,500 डॉलर की न्यूनतम कीमत पर ही बिके.

नीलामी में पाकिस्तान के नौ खिलाड़ी बिके. सबसे ज्यादा कीमत मोहम्मद राशिद के लिए लगी. उन्हें करीब 22.50 लाख रुपये में मुंबई मैजिशियंस ने खरीदा. मुंबई ने चार पाकिस्तानी खिलाड़ी खरीदे. इनमें मोहम्मद तौसिक, फरीद अहमद और गोलकीपर इमरान बट शामिल हैं. बट के लिए किसी ने बोली नहीं लगाई, उन्हें 5,500 डॉलर की न्यूनतम कीमत पर खरीदा गया.

रांची राइनोज ने शफकत रसूल और मोहम्मद इरफान को लिया. दिल्ली वेब राइडर्स के लिए मोहम्मद रिजवान जूनियर और सीनियर खेलेंगे. सीनियर रिजवान के लिए दिल्ली ने 14.26 लाख रुपये लगाए. कासिफ शाह को पंजाब वॉरियर्स ने खरीदा.

मिड फील्डर सरदार सिंह (दिल्ली) के अलावा कुछ दूसरे दिग्गज खिलाड़ियों को भी जबरदस्त कीमत मिली. भारत के ड्रैग फ्लिकर रघुनाथ को 41 लाख रुपये में यूपी विजार्ड्स ने खरीदा. विरोधी टीमों को लोहे के चने चबावा देने वाले हॉलैंड के टेउन दे नूइयर को यूपी ने 66,000 डॉलर में खरीदा. जर्मनी को बीजिंग और लंदन ओलंपिक में स्वर्ण पदक जिताने वाले मोरित्ज फुएर्स्टे 75,000 डॉलर यानी 41.14 लाख में बिके. हॉलैंड के गोलकीपर याप स्टॉकमान को 37.30 लाख रुपये में खरीदा गया.

हॉकी इंडिया लीग (एचआईएल) 17 जनवरी से 17 फरवरी तक चलेगा. इसमें कुल पांच टीमें हैं. हर टीम में 10 विदेशी और 14 भारतीय खिलाड़ी हैं. भारत में इसी तरह का क्रिकेट टूर्नामेंट आईपीएल बहुत मशहूर है. आईपीएल के धुरंधर खिलाड़ी एक साल में करीब 20 लाख डॉलर यानी 10.9 करोड़ रुपये कमाते हैं. क्रिकेट से तुलना की जाए तो हॉकी खिलाड़ियों के लिए लगी बोली बहुत कम है, लेकिन गुमनामी में जीते हॉकी खिलाड़ियों के लिए यह शुरुआत किसी बड़ी राहत से कम नहीं.

ओएसजे/एनआर (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री