1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

उरुग्वे को हराकर नीदरलैंड्स फाइनल में

नीदरलैंड्स फुटबॉल वर्ल्ड कप 2010 के फाइनल में पहुंच गया है. उसने पहले सेमीफाइनल मुकाबले में उरुग्वे को 2 के मुकाबले 3 गोल से मात दी. नीदरलैंड्स के श्नाइडर को मैन ऑफ द मैच चुना गया.

default

नीदरलैंड्स ने उरुग्वे को 3-2 से हराया

साउथ अफ्रीका में खेले जा रहे फुटबॉल वर्ल्ड कप के पहले सेमीफाइनल में नीदरलैंड्स और उरुग्वे के बीच कांटे का मुकाबला हुआ. पहले हाफ में दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर थीं. पहला गोल नीदरलैंड्स ने किया. कप्तान ब्रोंकहॉर्स्ट ने 18वें मिनट में 30 मीटर की दूरी से गोल दागा. इसके बाद उरुग्वे के खेल में खासी तेजी आई और 41वें मिनट में उसने गोल उतार दिया. उरुग्वे के लिए कप्तान फोरलान ने बाएं पांव से शानदार शॉट लगाते हुए गोल किया.

पहले हाफ में गेंद पर नीदरलैंड्स का कब्जा ज्यादा रहा. 62 फीसदी वक्त तक नीदरलैंड्स के खिलाड़ी गेंद को अपने पास रखने में कामयाब रहे हालांकि वे ज्यादा मूव नहीं बना पाए. पहले हाफ में उन्होंने 2 ही शॉट्स लगाए.

उधर उरुग्वे बॉल पर कब्जा करने के मामले में नीदरलैंड्स के सामने कुछ कमजोर जरूर नजर आया, लेकिन उसने शॉट्स लगाने में कोई कसर नहीं छोड़ी. उरुग्वे के खिलाड़ियों ने अच्छे मूव बनाते हुए 3 बार बॉल को गोल पोस्ट पर दागा.

जब नीदरलैंड्स के खिलाड़ी दूसरे हाफ में मैदान पर उतरे तो मानो वे सोचकर आए थे कि अब उरुग्वे को कोई मौका नहीं देना है. उन्होंने बॉल पर लगातार कब्जा बनाए रखा और उरुग्वे के गोलपोस्ट पर ताबड़तोड़ हमले किए. इन हमलों का फल उन्हें एक के बाद एक हुए दो शानदार गोल के रूप में मिला.

पहले 70वें मिनट में श्नाइडर ने और फिर 73वें मिनट में रोबेन ने गोल किया. इन दो गोल की बदौलत नीदरलैंड्स ने 3-1 की अहम बढ़त हासिल कर ली. इसके बाद उरुग्वे ने खेल को बराबरी पर लाने के लिए पूरी ताकत झोंक दी, लेकिन निर्धारित 90 मिनट के भीतर उसके खिलाड़ी कोई और गोल नहीं कर पाए.

यहां से उरुग्वे के पास इंजरी टाइम के रूप में तीन मिनट की ही मोहलत थी. दूसरे मिनट में परेरा ने फ्री किक को रिसीव किया और बॉल को गोल में डाल दिया. लेकिन इसके बाद उन्हें कोई और मौका नहीं मिला. इस तरह निर्धारित समय के बाद आखिरी स्कोर नीदरलैंड्स के पक्ष में रहा.

अब नीदरलैंड्स का मुकाबला फाइनल में जर्मनी और स्पेन में से किसी के साथ होगा. बुधवार को जर्मनी और स्पेन के बीच दूसरा सेमीफाइनल खेला जाएगा. इस तरह एक बार फिर यह तय हो गया है कि वर्ल्ड कप फुटबॉल पिछली बार की तरह इस बार भी यूरोप में ही आएगा.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ए जमाल

संबंधित सामग्री