1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

उम्र बढ़ाने वाला जीन

ज़रूरी नहीं है कि दो व्यक्ति समान उम्र में एक से दिखें. कोई अधिक उम्र का लगता है और कोई कम उम्र का. ऐसा आखिर होता क्यों है, वैज्ञानिकों ने इसकी पड़ताल कर ली है. और इसकी वजह है एक खास जीन.

यह कोई राज की बात नहीं रह गई है कि अच्छे जींस लोगों की लंबी उम्र की वजह हो सकते हैं. लेकिन शोधकर्ताओं का कहना है कि उन्होंने ऐसे जीन का पता लगाया है जिसके चलते व्यक्ति की उम्र कम से कम लगभग दो साल अधिक नजर आती है.

करंट बायोलॉजी पत्रिका में छपी एक​ रिपोर्ट के मुताबिक वैज्ञानिक 'एमसी1आर' नाम के एक जीन के बारे में पहले से जानते हैं. लेकिन बालों के सफेद होने या त्वचा के पीले होने में इसके योगदान को लेकर अब तक प्रश्न ही बना हुआ था. लेकिन अब उन्होंने इस जीन में वह फर्क पता कर लिया है जिसके चलते लोगों की त्वचा में बढ़ती उम्र का असर तेजी से दिखाई देता है.

नीदरलैंड्स के शहर रोटरडम की इरास्मुस एमसी यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर के वैज्ञानिक मानफ्रेड कायजर कहते हैं, ''पहली बार एक ऐसे जीन का पता चला है जिसके जरिए यह पता लगाया जा सकता है कि क्यों कुछ लोग अपनी उम्र से अधिक के लगते हैं और दूसरे कुछ लोग अपनी उम्र से कम के लगते हैं.'' इससे पहले के अध्ययनों से पता चला है कि किसी व्यक्ति के जींस और पर्यावरणीय कारक दोनों मिल कर इस बात को निर्धारित करते हैं कि वह व्यक्ति कैसा दिखाई देगा.

इस अध्ययन के लिए वैज्ञानिकों ने 2600 से अधिक लोगों के नमूने लिए थे. डिजिटल तकनीक के सहारे इन लोगों की बढ़ती उम्र के अनुमानित चेहरों की तस्वीरें बनाई गईं. और फिर इनकी तुलना उम्र के बढ़ जाने के बाद वास्तविक तस्वीरों से की गई. रिपोर्ट का कहना है, ''अनुमानित चेहरे की उम्र पर सबसे अधिक फर्क एमसी1आर जीन के अंतर की वजह से ​दिखाई दिया है.''

शोधकर्ताओं का कहना है कि वे उनके इन निष्कर्षों की पुष्टि यूरोप में हुए दो और बड़े अध्ययनों में हुई है. एमसी1आर जीन का प्रभाव उम्र, लिंग और त्वचा के रंग जैसे अंतरों से प्रभावित नहीं होता है. इस शोध का कहना है एमसी1आर खराब हो गए डीएनए को ठीक करने में भी इस्तेमाल होता है.

आरजे/एमजे (एएफपी)

संबंधित सामग्री