1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

उम्मीदों का फर्राटा भरती फरारी

फरारी के नए बॉस को उम्मीद है कि उनकी टीम अब भी वापसी कर इस साल की फॉर्मूला वन चैंपियनशिप जीत सकती है. हालांकि मन ही मन उन्हें भी पता है कि इस उम्मीद में बहुत ज्यादा दम नहीं है.

इस साल के फॉर्मूला वन सत्र में अब तक तीन रेसें हो चुकी हैं. तीनों में फरारी का प्रदर्शन ढीला रहा. टीम के हाथ आखिरी बार फॉर्मूला वन चैंपियनशिप 2007 में लगी थी. तब से सूखा पड़ा है. खराब प्रदर्शन की वजह से पिछले हफ्ते स्टेफानो डोमेनिसेली की टीम प्रिंसिपल पद से छुट्टी कर दी गई.

उनकी जगह अब मार्को माटियासी पद संभाल रहे हैं. माटियासी की पहली परीक्षा रविवार को चीन की शंघाई ग्रां प्री में है. शुक्रवार को अभ्यास सत्र में फरारी के फर्नांडो अलोंसो प्रदर्शन के लिहाज से दूसरे ड्राइवर तेज रहे. तीन रेसों में मिली करारी हार के बाद अभ्यास में मिली कामयाबी फरारी में उत्साह भर रही है.

Stefano Domenicali

स्टेफानो डोमेनिसेली

माटियासी के मुताबिक यह अच्छे दिन लौटने का संकेत है. फरारी के लिए 2014 की चैंपियनशिप खत्म हो चुकी है, ऐसी बातें करने वालों को जवाब देते हुए माटियासी ने कहा, "खिताब अब भी हमारा लक्ष्य है. हम हार नहीं मानेंगे. मंजिल साफ है कि मर्सिडीज के साथ फासले को कम से कम करते जाना है."

फॉर्मूला वन की बाकी टीमें भी यही कह रही हैं, लेकिन फिलहाल किसी के पास मर्सिडीज का जवाब नहीं दिखता. इस साल से लागू हुए नये नियमों के बाद से मर्सिडीज की कारें बाकियों के मुकाबले बहुत तेज भाग रही हैं. चार बार वर्ल्ड चैंपियन रह चुके रेड बुल के सेबास्टियान फेटल तो खुलकर कह चुके हैं कि वो उनकी गाड़ी मर्सिडीज को पकड़ ही नहीं पा रही है. फेटल नए वी6 टर्बो इंजन से नाराज दिख रहे हैं.

फरारी के नए टीम प्रिसिंपल अपने ड्राइवरों और इंजीनियरों का मनोबल तो बढ़ा रहे हैं लेकिन साथ ही यह भी कह रहे हैं कि मर्सिडीज को पकड़ना बहुत ही मुश्किल है. अब तक हुई तीनों रेसें मर्सिडीज ने बड़े अंतर से जीती हैं.

ओेएसजे/एएम (एएफपी)

संबंधित सामग्री