1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

उमर ने कश्मीर को जेल बना दिया है: महबूबा

जम्मू और कश्मीर में मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला विकीलीक्स को लेकर विपक्षी दलों के निशाने पर हैं. पीडीपी की महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि मानवाधिकारों पर बोलने का उमर को कोई हक नहीं क्योंकि उन्होंने राज्य को जेल बना दिया है.

default

महबूबा मुफ्ती

विकीलीक्स के 2005 में भेजे गए एक संदेश में कश्मीर में मानवाधिकारों को लेकर चिंता जताई गई है. इस बारे में उमर अब्दुल्ला ने टिप्पणी की. तब राज्य में पीडीपी की सरकार थी इसलिए मौजूदा मुख्यमंत्री ने उसी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, "आप हिसाब लगा लीजिए कि तब किसकी सरकार थी. जहां तक मेरी सरकार का सवाल है तो हम किसी तरह की प्रताड़ना में भरोसा नहीं रखते. हम ऐसा कभी करेंगे भी नहीं. बल्कि हमने तो पारदर्शिता लाने के मकसद से पहली बार राज्य में एमनेस्टी इंटरनेशनल को आने की इजाजत भी दे दी है."

Omar Abdullah

उमर अब्दुल्ला

इस टिप्पणी पर महबूबा मुफ्ती का गुस्सा फूट पड़ा. उन्होंने कहा, "कश्मीर में प्रताड़ना के बारे में विकीलीक्स के खुलासे पर बोलने वाले उमर कौन होते हैं. उन्हें कोई हक नहीं है. उन्होंने तो कश्मीर घाटी को एक जेल में तब्दील कर दिया है."

मुफ्ती ने कहा कि उमर के राज में आतंकवाद भले ही कम हुआ हो लेकिन 100 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है, हजारों घायल हुए हैं और बेइंतहा गिरफ्तारियां हो चुकी हैं. उन्होंने कहा कि जब कश्मीर में आतंकवाद चरम पर था तब उनकी पार्टी ने राज्य को संभाला. उनके मुताबिक, "हमने ही कश्मीर को अपनी हीलिंग टच नीति के जरिए संभाला. तब मुफ्ती मोहम्मद सईद की अध्यक्षता में पीडीपी-कांग्रेस सरकार ने सुरक्षा की स्थिति में महत्वपूर्ण सुधार किए. और हथियार डालने वाले आतंकवादियों, एसटीएफ और पोटा जैसे डर को भी दिलों निकाला."

2005 में अमेरिकी दूतावास ने अपने विदेश मंत्रालय को एक संदेश भेजा. उस संदेश में उन्होंने रेड क्रॉस के हवाले से कश्मीर में मानवाधिकार हनन पर चिंता जताई और कहा कि हिरासत में प्रताड़ना के मामले बढ़ रहे हैं. हालांकि इसमें यह भी कहा गया कि हालात 1990 के दशक से बेहतर हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/वी कुमार

संपादन: एस गौड़

DW.COM

WWW-Links