1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

उत्तर कोरिया से भागने वालों को दक्षिण कोरिया देगा ज्यादा इनाम

दक्षिण कोरिया का एकीकरण मंत्रालय अब देश की सुरक्षा के लिये अहम सूचनाएं और जानकारियां देने वालों को बड़ा इनाम देने की तैयारी कर रहा है. जल्द ही संसद में इसके लिए कानून लाया जायेगा. इनाम को बढ़ाकर चौगुना किया जा सकता है.

इस नये प्रस्ताव के बाद यह राशि 8.20 लाख यूरो तक की जा सकती है. दक्षिण कोरिया की समाचार एजेंसी ने एक मंत्री के हवाले से कहा है कि यह 20 साल में अब तक का सबसे बड़ा इनाम होगा. एजेंसी ने मंत्री के हवाले से लिखा है कि उत्तर कोरिया के लोग अभी कुछ भी कहने से हिचकते हैं क्योंकि उन्हें लगता हैं कि वे दक्षिण कोरिया आकर भी कैसे रहेंगे और क्या करेंगे. इसलिए इस प्रस्ताव पर गौर किया जा रहा है.  

उत्तर कोरियाई शासन की मुखालफत करने वालों में काफी हाई-प्रोफाइल नाम भी शामिल हैं. इनमें से एक हैं ब्रिटेन में उत्तर कोरिया के उप राजदूत रहे थाई यांग-हो. यांग-हो पिछले साल अगस्त में उत्तर कोरिया से भागकर दक्षिण कोरिया आ गए थे. मीडिया से बातचीत में यांग-हो ने कई बार कहा है कि वे उत्तर कोरिया की भीषण वास्तविकताओं को दुनिया के सामने लाएंगे.

फिलहाल उत्तर कोरिया अपने नेता किम जोंग-उन के सौतेले भाई किम जोंग-नाम की मलेशिया हवाईअड्डे पर हुई हत्या को लेकर चर्चा में हैं. मलेशियाई जांच एजेंसी इस पूरे मामले की जांच कर रही है और इस मामले में दो संदिग्ध महिलाओं को गिरफ्तार भी किया गया है. हालांकि इस घटना ने मलेशिया और उत्तर कोरिया के रिश्तों में भी दरार पैदा कर दी है.

पिछले हफ्ते थाई यांग-हो ने एक टेलीविजन कार्यक्रम में कहा था कि उत्तर कोरिया के समाज में आतंक का शासन है. उन्होंने कहा कि किम जोंग-नाम को मारने का फैसला उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन के अलावा कोई नहीं ले सकता है.

फ्रांस की समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक किम जोंग-नाम की हत्या के बाद उसके 21 साल के बेटे हान-सॉल की जान भी खतरे में हैं. हान सॉल के बारे में यही जानकारी मिल सकी है कि वह फ्रांस की किसी यूनिवर्सिटी से पढ़ाई कर रहा है. एएफपी के मुताबिक चीन भविष्य की संभावनाओं को ध्यान में रखते हुए अब भी किम जोंग-नाम के परिवार की सुरक्षा में लगा हुआ है.

एए/एमजे (एएफपी, एपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री