1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

उत्तर कोरिया के हाइड्रोजन बम ने दुनिया में मचाई हलचल

कोरियाई प्रायद्वीप पर हाइड्रोजन बम बनाने के उत्तर कोरियाई दावे ने हलचल मचा दी है. दुनिया भर के नेता उत्तर कोरिया की इस बढ़ती परमाणु क्षमता पर चिंता व्यक्त पर रहे हैं.

उत्तर कोरिया ने दावा किया कि उसने एक अंतर-महाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल से जुड़े एक हाइड्रोजन बम का सफल परीक्षण किया है. उत्तर कोरिया के दावे पर दुनिया भर के नेताओं ने चिंता जतायी है. जर्मनी की चांसलर अंगेला मैर्केल ने इस मसले पर फ्रांस के राष्ट्रपति इमानुएल माक्रों से फोन पर बात की. दोनों नेताओं ने उत्तर कोरिया की निंदा की और उत्तर कोरिया के खिलाफ यूरोपीय संघ के प्रतिबंधों को और सख्त बनाने का समर्थन किया.

अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने भी ट्वीट कर चेतावनी भरे लहजे में कहा है कि वो ऐसे किसी भी देश के साथ व्यापारिक रिश्तों को खत्म कर देंगे, जो उत्तर कोरिया से व्यापार करेगा.

अपने ट्वीट में ट्रंप उत्तर कोरिया को दुष्ट देश कहने से भी नहीं चूके. ट्रंप ने उत्तर कोरिया को बड़ा खतरा बताते हुए कहा कि वह चीन को शर्मसार कर रहा है और चीन के लिये परेशानी बन गया है.

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन ने कहा कि दक्षिण कोरिया, उत्तर कोरिया को अलग-थलग करने के लिए नये कदमों का समर्थन करेगा, जिसमें संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंध भी शामिल हैं.

रूस और चीन ने भी कोरियाई प्रायद्वीप की इस तनातनी पर अपनी चिंता जाहिर की. रूस ने कहा है कि वह उत्तर कोरियाई संकट को हल करने में एक बड़ी भूमिका निभाने के लिए तैयार है. वहीं जापान ने उत्तर कोरिया पर प्रतिबंधों का समर्थन करते हुए कहा है कि उत्तर कोरिया के ये परीक्षण "बिल्कुल अस्वीकार्य" हैं.

ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने भी उत्तर कोरिया के खिलाफ सख्त कार्रवाई का समर्थन किया है. भारत ने उत्तर कोरियाई कदम की निंदा की है और कहा है कि किसी भी देश को ऐसे कदमों से बचना चाहिए जिससे आसपास के क्षेत्र की शांति प्रभावित हो.

एए/एमजे (रॉयटर्स, एपी, एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री