1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

उत्तर कोरियाई दावों को अमेरिका ने कहा बकवास

उत्तर कोरियाई विदेश मंत्री ने अमेरिका पर युद्ध की घोषणा का आरोप लगाया था, लेकिन अमेरिका की ओर से इन दावों को बेतुका और बकवास बताया गया है. दोनों देशों के बीच जुबानी जंग और आपसी टकराव दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है.

संयुक्त राष्ट्र महासभा में शामिल होने न्यूयॉर्क पहुंचे उत्तर कोरियाई विदेश मंत्री री योंग हो ने मीडिया से बातचीत में अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप पर उत्तर कोरिया के खिलाफ युद्ध की घोषणा का आरोप लगाया था. साथ ही कहा था कि प्योंगयांग अमेरिकी बमवर्षक विमानों को मार कर अपनी रक्षा करने के लिए तैयार है. री ने कहा, "अंतरराष्ट्रीय समुदाय उम्मीद कर रहा था कि दोनों देशों के बीच छिड़ी ये जुबानी जंग वास्तविक युद्ध में ना बदले लेकिन पिछले हफ्ते ट्रंप ने अपने ट्वीट में दावा किया कि हमारा नेतृत्व ज्यादा समय तक नहीं रहेगा". री ने कहा, "उन्होंने हमारे देश पर युद्ध की घोषणा की है."

उत्तर कोरियाई विदेश मंत्री के इस बयान के जवाब में व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने कहा, "अमेरिका ने उत्तर कोरिया के खिलाफ युद्ध की घोषणा नहीं की है, सच कहूं तो उत्तर कोरिया का यह सुझाव ही बकवास और बेतकुा है."

उत्तर कोरिया के परमाणु और बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण जैसे मसले इस साल संयुक्त राष्ट्र महासभा में भी छाये रहे. दुनिया की चिंता इस बात पर साफ दिखी कि कहीं कोई गड़बड़ी युद्ध न छेड़ दे. बीते शनिवार को अमेरिकी बमवर्षक विमानों ने उत्तर कोरिया के पूर्व में अंतरराष्ट्रीय वायुसीमा में उड़ान भरी थी और अपनी ताकत का प्रदर्शन किया था जिसके बाद से आशंकाएं और भी गहरी हो गई थीं. री ने कहा, "अब जब अमेरिका ने हमारे देश पर युद्ध का एलान कर दिया है तो हमारे पास भी अपनी रक्षा करने और उन पर जवाबी कार्रवाई करने का पूरा अधिकार होगा फिर चाहे वह देश की हवाई क्षेत्र सीमा के अंदर हों या न हों." री ने कहा "तभी इस सवाल का जवाब मिलेगा कि कौन ज्यादा समय तक नहीं रहेगा."

दक्षिण कोरिया की खुफिया एजेंसी मुताबिक, "उत्तर कोरिया ने अपने युद्धपोतों को स्थानांतरित कर दिया है और पूर्वी तट पर सुरक्षा घेरे को अधिक मजबूत किया जा रहा है."

गर्माती लफ्फाजी के बीच दक्षिण कोरिया के विदेश मंत्री कांग क्यूंग-व्ही ने तनाव कम करने की अपील की है. उन्होंने कहा "भड़काऊ बातें बेशक उत्तर कोरिया की ओर से की जा रहीं हों लेकिन स्थिति को नियंत्रण से बाहर निकलने नहीं दिया जा सकता." दक्षिण कोरिया ने अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के उस भाषण पर भी प्रतिक्रिया दी जिसमें ट्रंप ने "उत्तर कोरिया को पूरी तरह से नष्ट" करने की बात कही थी. दक्षिण कोरिया ने साफ किया कि उसकी राजधानी सिओल, कोरियाई प्रायद्वीप को विभाजित करने वाले असैन्य क्षेत्र से महज 35 मील की दूरी पर स्थित है. संयुक्त राष्ट्र में दिए अपने भाषण में ट्रंप ने उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन को "रॉकेट मैन" की उपमा देते हुये कहा था कि वह एक खास "सुसाइड मिशन" पर है.

एए/एनआर (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री