1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

उत्तर और दक्षिण कोरिया के बीच विवाद गहराया

दक्षिण कोरिया ने उत्तर कोरिया पर दोनो के बीच की विवादग्रस्त सीमा के पास अपने युद्धपोत पर तारपीडो हमले का आरोप लगाया है तो बदले में उत्तर कोरिया की युद्ध की धमकी के बाद इलाक़े में तनाव बढ़ गया है.

default

दक्षिण कोरियाई युद्धपोत के डूबने के बाद बिठाए गए एक जांच दल ने कहा है कि इस बात के गंभीर सबूत हैं कि उत्तर कोरियाई पनडुब्बी ने 26 मार्च को दक्षिण कोरिया के युद्ध पोत को डुबोया जिसमें 46 लोग मारे गए. जांच दल का कहना है, "सबूत इस बात की ओर इशारा करते हैं कि तारपीडो उत्तर कोरियाई पनडुब्बी से छोड़ा गया."

विश्लेषकों का मानना है कि उत्तर कोरिया ने पीला सागर इलाके में नवम्बर में हुई गोलीबारी का बदला लेने के लिए यह कार्रवाई की है. जांच दल का यह भी कहना है कि समुद्र में मिले टुकड़े उत्तर कोरिया के उस प्रकार के तारपीडो से एकदम मिलते हैं जिसे उसने बेचने की पेशकश की थी. जांच दल ने सबूतों को प्रेस कांफ़्रेंस में दिखाया.

Korea Kriegsschiff FLASH

यही युद्धपोत डूबोया गया

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति ली म्यूंग-बाक ने बहुराष्ट्रीय जांच दल की रिपोर्ट आने के बाद कठोर जवाबी कार्रवाई की बात कही है. लेकिन, उत्तर कोरिया ने जांच दल की रिपोर्ट को मनगढंत बताया है और उसे सज़ा देने के प्रयासों का जवाब युद्ध से देने की धमकी दी है. उत्तर कोरिया की सर्वोच्च संस्था राष्ट्रीय सुरक्षा आयोग ने कहा है कि वह कथित सबूतों की जांच के लिए अपने जांचकर्ताओं को दक्षिण कोरिया भेजेगा.

दक्षिण कोरियाई युद्धपोत को डुबाया जाना अंतर-कोरियाई विवाद में 1987 के बाद सबसे गंभीर घटना है जब उत्तर ने दक्षिण कोरिया के एक विमान को मार गिराया था जिसमें 115 लोग मारे गए थे.

अमेरिका, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया और जापान ने प्योंगयांग की कड़ी निंदा की है जबकि सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य चीन ने अपने सहयोगी उत्तर कोरिया की आलोचना करने के बदले सभी पक्षों से शांत रहने और संयम बरतने की अपील की है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मा झाओक्सू ने कहा कि चीन जांच रिपोर्ट का स्वयं मूल्यांकन करेगा. सोल स्थित अंतरराष्ट्रीय क्राइसिस ग्रुप के वरिष्ठ विश्लेषक डैनियल पिंक्सटन का कहना है कि चीन किसी कड़े क़दम या दंडात्मक कार्रवाई का समर्थन नहीं करेगा.

China Hu Jintao trifft Korea Kim Jong Il

किम जोंग इल और हू चिनथाओ

ह्वाइट हाउस ने हमले को अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए चुनौती तथा युद्धविराम संधि का उल्लंघन बताया है. ब्रिटिश विदेश मंत्री विलियम हेग ने हमले की निंदा करते हुए उसे संवेदनाहीन कार्रवाई बताया तो जापान ने उत्तर कोरिया की कार्रवाई को माफ न किया जा सकने ने वाला कार्य कहा. संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने कहा कि जांच दल की रिपोर्ट से पता चले तथ्य परेशान करने वाले हैं.

दक्षिण कोरियाई युद्ध पोत के डूबने के बाद देश में आक्रोश फैल गया था. सरकार ने पांच दिनों के राष्ट्रीय शोक की घोषणा की थी. उत्तर कोरिया के साथ उसके संबंध और ख़राब हो गए थे. दक्षिण कोरिया ने व्यापक युद्ध भड़कने के डर से सैनिक हमले की संभावना से इंकार किया है लेकिन सुरक्षा परिषद से उत्तर कोरिया पर नए प्रतिबंध लगाने की मांग की है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: राम यादव

संबंधित सामग्री