उत्कल एक्सप्रेस के पांच डिब्बे पटरी से उतरे | दुनिया | DW | 19.08.2017
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

उत्कल एक्सप्रेस के पांच डिब्बे पटरी से उतरे

उत्तर प्रदेश में एक ट्रेन के पटरी से उतर जाने के कारण कम से कम 10 लोगों की मौत हो गई है. करीब 150 लोग घायल हो गए हैं. घटना शनिवार करीब पांच बजे हुई है.

मुजफ्फरनगर के पास उड़ीसा के पुरी से उत्तराखंड के हरिद्वार जाने वाली उत्कल एक्सप्रेस के छह डिब्बे पटरी से उतर गए. टीवी पर दिखाई जा रही तस्वीरों में एक के ऊपर एक चढ़े कई डिब्बे नजर आ रहे हैं.

स्थानीय प्रशासन ने राहत और बचाव का काम शुरू कर दिया है. दिल्ली से आपदा राहत बल की टीमों को मौके पर भेजा गया है. घायलों को अस्पताल पहुंचाने के लिए एंबुलेंस की मदद ली जा रही है. घायलों को मेरठ और आसपास के दूसरे अस्पतालों में ले जाया जा रहा है.

घटना मुजफ्फरनगर में खतौली के पास हुई है जो राजधानी दिल्ली से महज 100 किलोमीटर की दूरी पर है. केंद्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने इस घटना के कारणों का पता लगाने के लिए जांच के आदेश दे दिये हैं. सुरेश प्रभु ने ट्वीट कर कहा है, "किसी भी चूक के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी." रेल मंत्री ने यह भी कहा है कि केंद्रीय मनोज सिन्हा वरिष्ठ अधिकारियों के साथ घटनास्थल पर पहुंच रहे हैं.

स्थानीय प्रशासन के मुताबिक करीब 50 लोगों को हादसे का शिकार हुए ट्रेन के डिब्बों से बाहर निकाला गया है. इस घटना के कारण रेलगाड़ियों की आवाजाही पर भारी असर पड़ेगा क्योंकि काफी व्यस्त रहने वाले रूट पर हादसा हुआ है.

इस घटना में प्रभावित हुए लोगों के बारे में जानकारी के लिए प्रशासन ने इन हेल्पलाइन नंबरों को प्रसारित किया है.

9410609434, 0121-2604977, 9454455183, 9410609434, 0121-2604977

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी जितेंद्र कुमार ने समाचार एजेंसी एएफपी से कहा, "निश्चित रूप से लोग हताहत हुए हैं लेकिन फिलहाल सारा ध्यान लोगों को बाहर निकालने पर है. हम उन्हें को बाहर निकाल रहे है जो डिब्बों में फंसे हुए है और घायलों को अस्पताल पहुंचा रहे हैं."

घटनास्थल से आ रही तस्वीरों में डिब्बे पर चढ़े हुए लोग दिख रहे हैं जो दूसरे लोगों को बाहर निकालने में मदद कर रहे हैं.

एनआर/ओएसजे (रॉयटर्स)

संबंधित सामग्री