1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

ईरान में अखबार के संपादक को कोड़े मारने की सजा

ईरान के सरकारी अखबार के संपादक को छह महीने की जेल और 10 कोड़े मारने की सजा सुनाई गई है. संपादक ने फैसले की आलोचना की है लेकिन इसके खिलाफ अपील से इनकार किया है.

default

ईरान के सरकारी अखबार के संपादक कावेह एश्तरहारदी को मेहदी हाशमी की शिकायत पर दोषी करार दिया गया है. मेहदी हाशमी ईरान के दो बार राष्ट्रपति रह चुके अकबर हाशमी रफसंजानी के बेटे हैं. ईरान के कट्टरपंथी अखबार जवन एक्सप्रेस ने इस बारे में खबर छापी है. अखबार के मुताबिक हाशमी ने अदालत से उनके खिलाफ अखबार में लगाए भ्रष्टाचार के आरोपों की शिकायत की थी. एश्तरहारदी ने अपने अखबार में एक पत्र छापा था जिस पर बासिज मिलिशिया के छात्र सदस्यों के दस्तखत थे.

अदालत ने एस्तरहारदी को, "मानहानि, झूठ फैलाने और योग्यता परिषद के बेटे पर आर्थिक भ्रष्टाचार करने के आरोप लगाने का दोषी" करार दिया. कोर्ट ने फिलहाल सजा को तीन साल के लिए निलंबित कर दी है. संपादक ने कोर्ट के फैसले की आलोचना की हालांकि उन्होंने इसके खिलाफ अपील नहीं करने की भी बात कही है. एश्तरहारदी ने कहा, "उनकी सजा को निलंबित करके ये साबित कर दिया कि वो स्वतंत्र है क्योंकि न उसने ज्यूरी की सुनी ना ही बचाव पक्ष की." इससे पहले ज्यूरी ने कहा था कि एश्तरहारदी ने कोई गलती नहीं की है. सरकारी अखबार के संपादकों को अभियुक्त बनाए जाने की घटनाएं ईरान में बहुत कम होती हैं हालांकि अधिकारी स्वतंत्र मीडिया पर अंकुश लगाने की खूब कोशिश करते हैं. पिछले कुछ सालों में बड़ी संख्या में सुधारवादी राजनेताओं, छात्रों और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है. खासतौर से 2009 के विवादित चुनाव के बाद इसमें काफी तेजी आई है. इनमें से कइयों को लंबे समय के कैद की सजा मिली है.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः ओ सिंह

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री