1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

ईरान पर नए और कड़े प्रतिबंध लगे

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने ईरान पर प्रतिबंध लगा दिए हैं. ईरान पर प्रतिबंध लगाने के पक्ष में 12 और इसके विरोध में दो वोट पटे. यह चौथा मौका है जब ईरान पर विवादित परमाणु कार्यक्रम को लेकर प्रतिबंध लगे हैं.

default

प्रतिबंधों में ईरान की आर्थिक नाकाबंदी करने पर जोर दिया गया है. साथ ही हथियारों को लेकर भी ईरान को अंतरराष्ट्रीय मंच पर मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा. दूसरे प्रतिबंधों पर बहस अब भी चल रही है. अमेरिका ने और कुछ और कड़े प्रतिबंधों की मांग की है, जिस पर फैसला होना बाकी है. तुर्की और ब्राजील ने ईरान पर प्रतिबंध लगाने के प्रस्ताव का विरोध किया. लेबनान ने वोटिंग में हिस्सा नहीं लिया.

Iran Natanz

ईरान का परमाणु कार्यक्रम

अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने इसे बेहद अहम कदम बताया है. प्रतिबंध लगने के बाद ईरानी बैंकों, नागरिकों और संदिग्ध कंपनियों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खासी मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है. अमेरिका, रूस और फ्रांस ने पहले ही ईरान पर नरमी दिखाने से इनकार कर दिया है. दोनों देशों ईरान को के बारे में पेश की गई ब्राजील और तुर्की की योजना को भी खारिज कर चुके थे.

तेहरान के विवादित परमाणु कार्यक्रम के चलते ऐसा किया जा रहा है. पश्चिमी देशों का आरोप है कि ईरान परमाणु हथियार बना रहा है. ईरान इससे इनकार करता है. तेहरान का कहना है कि उसका परमाणु कार्यक्रम शांतिपूर्ण उद्देश्यों के लिए है. ईरानी राष्ट्रपति महमूद अहमदीनेजाद ने प्रतिबंधों का जवाब देने की चेतावनी दी है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: एन रंजन

संबंधित सामग्री