1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

ईयू मदद के कारण आयरलैंड में होंगे चुनाव

वित्तीय संकट का सामना कर रहे आयरलैंड के प्रधानमंत्री ब्रायन कोवेन ने कहा है कि संसद द्वारा अंतरराष्ट्रीय मदद के लिए जरूरी आपात बजट पास कर दिए जाने के बाद नए साल में संसदीय चुनाव कराए जाएंगे.

default

आयरिश पीएम ब्रायन कोवेन

बजट पास करने की प्रक्रिया को पूरी होने में कई सप्ताह लगते हैं. कोवेन उसके बाद ही संसद को भंग करने का फैसला लेंगे, इसलिए आम चुनावों के फरवरी या मार्च से पहले होने की संभावना नहीं है. 2008 के चुनावों के बाद कोवेन ने ग्रीन पार्टी के साथ गठबंधन सरकार बनाई थी, लेकिन आयरलैंड द्वारा 90 अरब यूरो की वित्तीय सहायता स्वीकार किए जाने के बाद ग्रीन पार्टी ने नया चुनाव कराने की मांग शुरू कर दी थी.

प्रधानमंत्री ने कहा है कि कर्ज में डूबे आयरलैंड की प्राथमिकता 7 दिसंबर को 6 अरब यूरो का बजट पास करना है. उन्होंने कहा, "मेरा इरादा बजट प्रक्रिया के अंत में नए साल में जरूरी कानून पास करना और उसके बाद संसद को भंग करने का सुझाव देना है."

एक सप्ताह तक इस बात पर जोर देते रहने के बाद कि आयरलैंड को किसी सहायता की जरूरत नहीं है, सरकार ने रविवार को यूरोपीय संघ और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष से मदद की गुहार लगाई.

NO FLASH Euro Irland Finanzkrise Staatsbankrott

अब आयरलैंड ग्रीस के बाद सहायता पाने वाला दूसरा देश बन गया है. इस फैसले के बाद सोमवार का दिन राजनीतिक उथल पुथल का दिन रहा. संसद में छह सदस्यों वाली ग्रीन पार्टी के नेता जॉन गोर्मली ने प्रधानमंत्री कोवेन से चुनाव का दिन तय करने की मांग की. उन्होंने कहा कि आयरिश जनता को भ्रम और धोखे में रखे जाने के बाद राजनीतिक निश्चितता की जरूरत है. गोर्मली ने कहा है कि चुनाव से पहले उनकी पार्टी संसद में आपात बजट पास कराने में सरकार की मदद करेगी.

आर्थिक मदद के आयरलैंड के आग्रह को यूरोपीय संघ के वित्त मंत्रियों ने मंजूरी दे दी है. वित्त मंत्री ब्रायन लेनीहान ने कहा है कि सहायता की सही राशि तय करने में कई सप्ताह लगेंगे, लेकिन ब्रसेल्स में अधिकारी 80 से 90 अरब यूरो की जरूरत बता रहे हैं.

प्रधानमंत्री कोवेन द्वारा मध्यावधि चुनावों की घोषणा के बाद यूरोपीय संघ के आर्थिक मामलों के कमिश्नर ओली रेन ने कहा है कि मध्यावधि चुनाव को सहायता वार्ता पर कोई असर नहीं होगा. उन्होंने कहा, "चुनाव जनवरी में होंगे और हमारी वार्ताएं नवम्बर तक पूरी हो जाएगी."

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: एस गौड़

DW.COM

WWW-Links