1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

ईयू पर बयान पर अमेरिका की माफी

यूक्रेन संकट में यूरोपीय संघ की भूमिका पर आपत्तिजनक शब्दों के इस्तेमाल के लिए अमेरिकी मंत्री विक्टोरिया न्यूलैंड ने माफी मांगी है. उन्होंने अमेरिकी राजदूत से जो बातचीत की, वह यूट्यूब पर लीक हो गई.

अमेरिका का कहना है कॉल लीक करने में रूस का हाथ हो सकता है. बातचीत अमेरिका की विदेश उप मंत्री विक्टोरिया न्यूलैंड और यूक्रेनी राजधानी कीव में अमेरिकी राजदूत जेफ पायट के बीच हुई. इसमें उन्होंने यूक्रेन के मामले में यूरोपीय संघ यानि ईयू की भूमिका पर असंतुष्टि जताई और अंग्रेजी के 'एफ' अक्षर से शुरू होने वाला चार अक्षरों का आपत्तिजनक शब्द कह डाला.

अमेरिकी अधिकारियों ने इनकार नहीं किया है कि इस तरह की बातचीत हुई, लेकिन इस बारे में विस्तृत जानकारी नहीं दी. विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता जेन साकी ने कहा, "मैं बताना चाहती हूं कि यह सच है कि वह अपने यूरोपीय सहयोगी के साथ संपर्क में थीं और इसके लिए उन्होंने माफी मांगी है."

USA Victoria Nuland

न्यूलैंड ने यूक्रेन के मामले में ईयू की भूमिका पर जताया था असंतोष

रूस पर शक

हालांकि साकी ने कहा कि उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है कि बातचीत कैसे रिकॉर्ड हुई और यूट्यूब तक कैसे पहुंची. लेकिन उन्होंने बातचीत लीक होने में रूस का हाथ होने की आशंका जताई.

प्रवक्ता ने कहा, "हमें लगता है यह रूस की घटिया चाल है. जाहिर है ट्विटर पर सबसे पहले उन्होंने ही ट्विटर पर इसका जिक्र किया." जानकारों का यह भी मानना है कि हो सकता है रूस इस दावे को बढ़ाने की ताक में हो कि अमेरिका यूक्रेन के विपक्ष को प्रभावित करने की कोशिश कर रहा है.

साकी ने कहा, "इसमें हैरानी वाली कोई बात नहीं है कि अमेरिका दुनिया भर के मामलों पर चर्चा करता है. राजनयिक यही करते हैं." अमेरिका का निशाना सीधे तौर पर रूस पर रहा. व्हाइट हाउस के प्रवक्ता जे कार्ने ने कहा, "आप जानते हैं, वीडियो को सबसे पहले रूसी सरकार ने देखा और ट्वीट किया. मेरे विचार में यह रूस की भूमिका के बारे में काफी कुछ कहता है" यूट्यूब पर इस बातचीत को अपलोड करने में रूसी भाषा में सबटाइटिल का इस्तेमाल हुआ है.

यूक्रेन पर अमेरिकी रुख

पिछले साल के अंत में अमेरिका की विदेश उप मंत्री का पद संभालने वाली न्यूलैंड पायट के साथ यूक्रेन के हालात पर चर्चा कर रही थीं. बातचीत में चर्चा यूक्रेन के राष्ट्रपति विक्टर यानुकोविच के प्रस्ताव पर हो रही थी जिसमें विपक्ष के नेता आर्सेनी यात्सेनयुक को प्रधानमंत्री और विताली क्लिचको को उप प्रधानमंत्री बनाने की बात कही गई थी. यूक्रेन में विद्रोह के भड़कने के बाद से पिछले महीने कम से कम चार लोग मारे जा चुके हैं.

Ukraine Proteste Kiew 06.02.2014

कीव में जारी हैं विरोध प्रदर्शन

दिसंबर में न्यूलैंड खुद कीव में चल रहे विरोध प्रदर्शनों में समर्थन दिखाने पहुंची थीं. लीक हुई बातचीत में उन्होंने कहा, "इस बात से चिपके रहना और संयुक्त राष्ट्र को भी इससे जोड़े रखना ही मेरे विचार में ठीक होगा." इसके आगे उन्होंने कहा, "फ** ईयू". उनके जवाब में पायट ने कहा, "इसे एक दूसरे से बांधे रखने के लिए हमें कुछ करना होगा. क्योंकि यह बात को पक्की है कि मामले को उछाल मिलती है तो रूसी पीछे से इसे तोड़ने की कोशिश करेंगे." इस बातचीत में न्यूलैंड ने रूस के इस दावे पर भी असहमति दिखाई कि अमेरिका कीव के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप की कोशिश कर रहा है.

पिछले साल अमेरिका ने यूरोपीय नेताओं के मोबाइल फोन सुनने का मामला सामने आने के बाद से ही यूरोप के साथ अमेरिका के संबंधों में खटास आई है. न्यूलैंड इस बीच कीव में यानुकोविच से मिली हैं.

एसएफ/एजेए (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री