1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

इस्लामिक स्टेट का खतरा अंतरराष्ट्रीय

आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट के खिलाफ रणनीति पर विचार के लिए तीस देशों के विदेश मंत्रियों का सम्मेलन फ्रांस की राजधानी पेरिस में शुरू हुआ. फ्रांस ने आईएस से लड़ने के लिए दुनिया भर के देशों से अपील की है.

फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांसोआ ओलांद ने सम्मेलन शुरू करते हुए कहा कि इस्लामिक स्टेट का खतरा अंतरराष्ट्रीय है और इसके खिलाफ संघर्ष के लिए भी वैश्विक रूख अपनाना चाहिए. उन्होंने सभी देशों को एकजुट होकर आगे आने का आग्रह किया है. इस बीच इराक के राष्ट्रपति फौवाद मासूम ने आशा व्यक्त की है कि फ्रांस सम्मेलन में भाग लेने वाले देश जेहादियों के खिलाफ संघर्ष में मदद के लिए आगे आएंगे.

इस सम्मेलन में मुख्य यूरोपीय देश, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के पांच स्थायी सदस्य देश, इराक के पड़ोसी और खाड़ी अरब देश कतर, सऊदी अरब, कुवैत और संयुक्त अरब अमीरात के विदेश मंत्री पहुंचे हैं. यह सभी इस्लामिक स्टेट की समस्या को सुलझाने के लिए राजनीतिक, सुरक्षा और मानवीय पहलुओं पर चर्चा करेंगे. सम्मेलन में इराक के राष्ट्रपति ने कहा, "इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों का सिद्धांत है या तो आप हमारा समर्थन करो या हमें मार दो, ये लोग जनसंहार और जातीय शुद्धता के लिए प्रतिबद्ध हैं."

फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांसोआ ओलांद ने कहा है कि खूंखार आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट पूरे विश्व के लिए खतरा है इसलिए उसे मुंहतोड़ जवाब देने के लिए विश्व के सभी देशों को एकजुट होकर आगे आना चाहिये. इस्लामिक स्टेट ने सीरिया और इराक के कुछ इलाकों पर कब्जा कर रखा है और मानवता की सारी हदें पार करते हुए सामूहिक कत्ल और सिर कलम जैसी खौफनाक वारदात को अंजाम दे रहा है. इस संगठन ने अब तक दो अमेरिकी पत्रकार और ब्रिटेन के एक सहायताकर्मी का सिर कलम करते हुए उसके खिलाफ हथियार उठाने वाले देशों को कड़ी चेतावनी दी है.

टोही विमान

फ्रांस के जेट विमानों ने सोमवार से इराक में इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों और उनके ठिकानों की टोह लेने का काम शुरु कर दिया है. फ्रांस के विदेश मंत्री लौरां फाबियुस ने यह जानकारी सम्मेलन के शुरू होने के पहले दी. फाबियुस ने यूरोप के एक रेडियो से बातचीत में इस बात की पुष्टि की. फ्रांस ने इराक से कहा है कि वह उसके विमानों को अपने क्षेत्र से होकर उड़ने की इजाजत दे. टोही विमान की पहली उड़ान सोमवार को अबू धाबी के फ्रांसीसी हवाई अड्डे से शुरु हुई.

एए/एएम (एपी, एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री