1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

इस्राएल ने की 7 घंटे विराम की घोषणा

इस्राएल ने घोषणा की है कि वह राहत के लिए सात घंटे तक गाजा के अधिकतर हिस्सों में हमला नहीं करेगा. लेकिन दक्षिणी शहर रफा इस ऐलान में शामिल नहीं है. हमास ने इस घोषणा का समर्थन नहीं किया है.

इस्राएल ने अपनी तरफ से कहा है कि उसने गाजा में मानवीय मदद के लिए और घर छोड़ गए फलीस्तीनीयों को लौटने के लिए ये विराम किया है. ये घोषणा पहले फलीस्तीनी मीडिया में की गई. स्थानीय समय के मुताबिक सुबह 10 बजे से शाम को पांच बजे तक ये विराम होगा. पूर्वी रफा ही इकलौता शहरी इलाका है जहां इस्राएली सेना और टैंक अभी भी मौजूद हैं.

हमास के प्रतिनिधि संघर्ष विराम की बातचीत के लिए मिस्र में हैं. इस दल के प्रवक्ता सामी अबू जुहरी का कहना था, "इस्राएल ने अकेले ही विराम की घोषणा की है और उसका उद्देश्य है कि इस्राएली संहार से ध्यान भटकाए. हम इस तरह के विराम पर विश्वास नहीं करते और लोगों से अपील करते हैं कि वो सचेत रहें."

इस्राएल के मुताबिक मानवीय सहायता के लिए उठाए गए इस कदम का इस्तेमाल अगर इस्राएली नागरिकों और सेना को नुकसान पहुंचाने के लिए किया गया तो सेना इसका जवाब देगी. लेकिन हमास ने इस्राएल के इस कदम को दुनिया का ध्यान भटकाने वाला बताया है. कुल मिला के ये विराम कितनी देर चल पाएगा इसकी कोई गारंटी नहीं.

इस्राएल ने दावा किया है कि गाजा से इस्राएल की ओर आने वाली सुरंगे ध्वस्त करने का उसका लक्ष्य पूरा हो गया है लेकिन फलीस्तीनी इलाके से हमला की स्थिति में वह जवाबी कार्रवाई के लिए तैयार है. गाजा के अधिकारियों का कहना है कि जारी संघर्ष में अभी तक 1,790 लोग मारे जा चुके हैं. ध्वस्त घरों से भागे कई लोगों ने संयुक्त राष्ट्र के राहत स्थलों पर शरण ली है. इसमें रफा का एक स्कूल भी था, जहां रविवार को हमला किया गया. 10 लोग इसमें मारे गए.

इस हमले की वैश्विक समुदाय ने कड़ी निंदा की है. संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की मून ने इस हमले को आपराधिक कार्रवाई बताया और कहा कि अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार कानून का हनन करने वाले लोगों को कटघरे में लाना चाहिए. काहिरा में संघर्ष विराम की बातचीत के लिए पहुंचे फलीस्तीनी प्रतिनिधियों ने कहा कि इस्राएल गाजा छोड़े, पुनर्निमाण में मदद करे और फलीस्तीनी कैदियों को रिहा करे. वहीं इस्राएल ने इस बातचीत में कोई रुचि नहीं दिखाई और हमास को शुक्रवार के दिन रफा में झड़प के साथ संघर्ष विराम तोड़ने का जिम्मेदार ठहराया.

एएम/एमजी (डीपीए, रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री