1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इराक में इस साल कम जानें गईं

इराक में इस साल हिंसा में मारे जाने वाले असैनिक नागरिकों की संख्या 2003 में अमेरिकी नेतृत्व वाले अतिक्रमण के बाद से सबसे कम होने की संभावना है. यह बात मोनिटरिंग ग्रुप इराक बॉडी काउंट ने अपनी आरंभिक रिपोर्ट में कही है.

default

अब भी चिंताजनक इराक के हालात

ब्रिटेन स्थित स्वतंत्र संस्था आईबीसी ने 25 दिसंबर तक इराक में मारे गए असैनिक लोगों की संख्या 3,976 बताई है जो 2009 के 4,680 से 704 कम है. लेकिन रिपोर्ट का कहना है कि मरने वालों की संख्या में कमी के बावजूद देश के अधिकांश हिस्सों में हमले सामान्य हैं. आईबीसी अपनी अंतिम रिपोर्ट साल के समाप्त होने के बाद जारी करेगी.

समाचार एजेंसी एएफपी ने इराक के रक्षा, गृह और स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा समय समय पर जारी आंकड़ों को जोड़कर नवंबर के अंत तक 2,416 असैनिक लोगों के मारे जाने की बात कही है. 2009 में यह संख्या 2,800 थी. दिसंबर के सरकारी आंकड़े अभी तक जारी नहीं किए गए हैं.

2009 पर अपनी रिपोर्ट में इराक बॉडी काउंट का कहना है कि साल के दूसरे हिस्से में भी लगभग उतने ही लोग मारे गए जितने साल के पहले हिस्से में. संस्था का कहना है कि इसका मतलब यह है कि स्थिति सुधर नहीं रही है.

आईबीसी के अनुसार 2010 के आरंभिक आंकड़े 2007 में हिंसा में कमी की शुरुआत के बाद से साल के स्तर पर होने वाली सबसे कम गिरावट दिखाते हैं. 2007 के मुकाबले 2008 में मारे गए लोगों की संख्या में 63 फीसदी की कमी हुई जबकि 2009 में 2008 के मुकाबले 50 फीसदी की कमी आई. इसके विपरीत 2010 में 2009 के मुकाबले सिर्फ 15 फीसदी की कमी हुई है.

लगभग 50 हजार अमेरिकी सैनिक अभी भी इराक में तैनात हैं, लेकिन इराक और अमेरिका के बीच हुए एक सुरक्षा समझौते के अनुसार उन्हें 2011 तक वापस हटा लिया जाएगा.

रिपोर्ट: एएफपी/महेश झा

संपादन: ए कुमार

DW.COM