1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

इमाम के हत्यारे को पकड़वाने वाले को बड़ा इनाम

न्यूयॉर्क में मारे गए बांग्लादेशी मूल के इमाम के हत्यारे का पता बताने वाले को 10,000 डॉलर का इनाम दिए जाने की घोषणा हुई है. अब तक हत्यारे का कोई पता नहीं चला है.

न्यूयॉर्क की एक मस्जिद के इमाम और उनके सहयोगी की हत्या से परिवारजन और पूरा बांग्लादेशी समुदाय सदमे में हैं. एक ओर अंतिम संस्कार की तैयारी चल रही है तो दूसरी ओर 55 साल के इमाम मौलाना अलाउद्दीन अकोन्जी और 64 वर्षीय थाराउद्दीन को दिन दहाड़े मार डालने वाले हत्यारे का सुराग ढूंढने की जुगत. क्वीन्स के ओजोन पार्क इलाके में शनिवार दोपहर की नमाज के बाद लौटते समय इन दोनों व्यक्तियों की हत्या कर दी गई थी.

इमाम अकोन्जी का 21 साल का बेटा आंसुओं को संभालते हुए सवाल करता है, "वो तो हमेशा शांति चाहते थे... उन्होंने मेरे पिता को क्यों मारा?" वहीं दूसरे मृतक के बेटे फोएजउद्दीन ने बांग्लादेश से बातचीत में बताया कि उसके माता पिता इसी 31 अगस्त को उसकी दादी को देखने बांग्लादेश आने वाले थे. सोमवार को ब्रुक्लिन में इकट्ठे होकर मुस्लिम समुदाय के सदस्य और मृतकों के परिवारजन इस्लामिक विधि से दोनों मृतकों का अंतिम संस्कार करेंगे.

एक मुस्लिम एडवोकेसी समूह 'काउंसिल ऑफ अमेरिकन-इस्लामिक रिलेशंस' (CAIR) ने सोमवार को हत्यारे के बारे में सूचना देने वाले को 10,000 डॉलर का इनाम दिए जाने की घोषणा की. हत्या की जांच में लगी न्यूयॉर्क पुलिस को अब तक हत्यारे की मंशा का भी पता नहीं लग पाया है. उस मस्जिद से जुड़े बांग्लादेशी मुस्लिम समुदाय के कुछ लोगों को आशंका है कि यह एक घृणा अपराध था.

इन दोनों मृतकों के साथ मस्जिद में रोजाना काम करने वाले मोनीर चौधरी ने बताया कि हाल के महीनों में कई बार लोगों ने उन्हें मुस्लिम विरोधी बातें सुनाई हैं. इसी कारण वे कहीं और से इस इलाके में बसी बड़ी बांग्लादेशी आबादी के पास रहने आ गए थे. ऐसे ही एक दिन जब वे अपने 3 साल के बेटे के साथ मस्जिद जा रहे थे तो एक स्थानीय अमेरिकी व्यक्ति ने उन्हें "ओसामा" कह कर बुलाया था. इस बीच चौधरी रोजाना मस्जिद तक पैदल जाने में असुरक्षित महसूस कर रहे हैं और इसलिए गाड़ी से ही जाते हैं. चौधरी ने कहा, "लोग हमसे नफरत करते हैं."

इस साल रमजान के पवित्र महीने के दौरान दुनिया भर में 8 देशों में हुए आतंकी हमलों में करीब 350 लोग मारे गए.

हत्यारे का अब तक कोई पता नहीं चला है. रविवार को पुलिस ने हत्यारे का स्केच जारी किया. वारदात के इलाके में लगे एक निगरानी कैमरे में कैद हुई एइस हत्यारे की तस्वीर के आधार पर उसके चेहरे मोहरे का नक्शा बनाया गया है. वीडियो में एक व्यक्ति इमाम और उनके सहयोगी का पीछा करता, गोली मारता और फिर टहलता हुआ जाता दिखाई दिया है. पुलिस वीडियो की गहराई से जांच कर रही है.

जहां न्यूयॉर्क शहर के मेयर ने घटना पर दुख व्यक्त करते हुए मुस्लिम समुदाय के साथ भेदभाव के बर्ताव की बात मानी है, वहीं बांग्लादेश सरकार ने हत्या की कड़ी निंदा करते हुए इसे "शांतिप्रिय लोगों के साथ हुआ कायराना कृत्य" करार दिया. बांग्लादेश में अमेरिकी दूत मार्सिया बर्निकट ने भी इस हिंसक वारदात की निंदा करते हुए अकोन्जी को "शांति का समर्थक" बताया.

DW.COM

संबंधित सामग्री