1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

इबोला से लड़ेगा मोबाइल ऐप

जानलेवा और लाइलाज संक्रमण इबोला अब तक दसियों हजार की जान ले चुका है. अब तक इस संक्रमण के इलाज के लिए कोई सटीक दवा उपलब्ध नहीं है. लेकिन इस वायरस से लड़ने और बचाने के लिए नया मोबाइल एप आया है.

वायरस की चपेट में आए पश्चिम अफ्रीका में इबोला की खोज और समुदायों को बेहतर मदद पहुंचाने की नीयत से मोबाइल फोन पर मैंपिंग सेवा की शुरुआत की गई है. इस प्रणाली को प्रौद्योगिकी की दिग्गज कंपनी आईबीएम, मोबाइल टेलीफोन कंपनियों और वैज्ञानिकों ने तैयार किया है. इस तकनीक की मदद से प्रभावित इलाकों में लोग मुफ्त में इबोला के बारे में एसएमएस भेजकर समस्या के निदान में मदद कर सकेंगे. प्रोग्राम इस तरह से तैयार किया गया जिससे एसएमएस भेजने वाली जगह की सटीक मैपिंग की जा सके.

आईबीएम के मुताबिक, "इससे उन इलाकों को मदद मिली है जहां इबोला संक्रमणों की संख्या तेजी से बढ़ रही है, जहां साबुन और बिजली जैसी चीजों की तुरंत जरूरत है. जहां शवों को इकट्ठा कर दफनाने के लिए भी तेज प्रतिक्रिया अहम है."

कंपनी का दावा है कि वह कई श्रेणी के मैप का विकास जरूरत के हिसाब से और समस्या खोजने के लिए कर सकती है, जिससे स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और सरकारों को बीमारी के फैलाव से निपटने में मदद मिलेगी. अफ्रीका में आईबीएम रिसर्च के प्रमुख वैज्ञानिक उयी स्टुअर्ट ने एक बयान में कहा, "हमने तत्काल ऐसी प्रणाली विकसित करने के बारे में सोचा जो सीधे तौर पर इबोला से प्रभावित समुदायों को उससे लड़ने के बारे अहम जानकारी दे सके. मोबाइल तकनीक का इस्तेमाल करके हमने उन्हें अपना दैनिक अनुभव बताने के लिए एक आवाज और चैनल दिया है."

विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के मुताबिक पश्चिम अफ्रीका में दस हजार से ज्यादा लोग इस जानलेवा वायरस की चपेट में आ गए हैं.

एए/एएम (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री