1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आज: 9 सितंबर

1968 में इसी दिन अमेरिकी टेनिस खिलाड़ी आर्थर ऐश यूएस ओपन जीतने वाले पहले अश्वेत खिलाड़ी बने थे.

इतिहास में ऐश वह इकलौते अश्वेत टेनिस खिलाड़ी हैं जिन्होंने विंबल्डन, यूएस ओपन और ऑस्ट्रेलियन ओपन तीनों खिताब अपने नाम किए. आर्थर ऐश ना केवल एक पेशवर टेनिस खिलाड़ी थे बल्कि उन्होंने एक लेखक, सामाजिक कार्यकर्ता और प्रसारक के तौर पर भी अपनी खास पहचान बनाई. टेनिस कोर्ट में ऐश को उनके शालीन बर्ताव और कोर्ट के बाहर भी बेहद सौम्य स्वभाव के लिए जाना जाना है. वह अफ्रीकी अमेरिकी समुदाय के पहले टेनिस स्टार माने जाते हैं. ऐश यूएस ओपन और विम्बलडन टूर्नामेंट जीतने के अलावा यूएस डेविस कप टीम की कप्तानी करने वाले भी पहले अफ्रीकी अमेरिकी थे.

अपनी इन्हीं सारी उपलब्धियों के कारण उन्हें अंतरराष्ट्रीय टेनिस के हॉल ऑफ फेम में भी शामिल किया गया. टेनिस कोर्ट में अपने अनगिनत खिताबों के अलावा समाजसेवा और एड्स के बारे में जागरूकता फैलाने के क्षेत्र में उल्लेखनीय काम किया.

10 जुलाई, 1943 में वर्जीनिया प्रांत के रिचमंड के एक मध्यमवर्गीय परिवार में ऐश का जन्म हुआ. चार साल की उम्र से ही ऐश ने टेनिस खेलना शुरू कर दिया. खेलने का शुरुआती कारण था कि उनके पिता ब्रुकफील्ड खेल के मैदान में केयरटेकर की नौकरी करते थे. उनका घर मैदान के बिल्कुल बीचोबीच था. ऐश केवल सात साल के थे जब मां का देहान्त हो गया. इसी समय रोनाल्ड चैरिटी नामके एक प्रतिभाशाली टेनिस खिलाड़ी और कोच से ऐश की मुलाकात हुई और उन्होंने इस सात साल के बच्चे को टेनिस के गुर सिखाने में दिलचस्पी दिखाई. आगे चलकर ऐश ने पढ़ाई भी पूरी की और अपना टेनिस करियर भी बनाया. एक अश्वेत टेनिस खिलाड़ी के तौर पर उन्होंने कोर्ट में कई कारनामे किए. साल 1992 में ऐश ने घोषणा की उन्हें एचआईवी संक्रमण है. फरवरी 1993 में उनकी मौत के बाद न्यूयॉर्क के नेशनल टेनिस सेंटर का नाम आर्थर ऐश स्टेडियम रखा गया.

DW.COM