1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आज: 31 दिसंबर

1964 में आज ही के दिन डोनाल्ड कैम्पबेल ने अपनी जेट नाव में बैठ कर बनाया था पानी पर सबसे तेज गति का विश्व रिकार्ड.

Kalenderblatt Donald Campbell

31 दिसंबर को कैम्पबेल ने पानी में सबसे तेज गति तय करने का विश्व रिकार्ड बनाया था. इसके अलावा वह ऐसे पहले शख्स थे जिसने धरती और पानी पर सबसे तेज स्पीड तय करने का कीर्तिमान एक ही साल के अंदर बनाया. पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया के पर्थ शहर में अपनी ब्लूबर्ड नाम की स्पीडबोट में बैठ कर उन्होंने 276.33 मील प्रति घंटा की रफ्तार पकड़ी. ऐसा करके उन्होंने 1959 का अपना ही पिछला रिकार्ड तोड़ा जो 260.35 मील प्रति घंटे का था.

कैम्पबेल ने इसके बाद धरती पर सबसे तेज गति में गाड़ी चलाने का रिकार्ड भी रचा. 1964 में ही जुलाई के महीने में उन्होंने केन्द्रीय ऑस्ट्रेलिया की एक सड़क पर 403.1 मील प्रति घंटा की रफ्तार पकड़ी. इस रिकार्ड को कुछ ही महीनों के अंदर आर्ट आरफोन नाम के एक अमरीकी ड्राइवर ने 536.71 मील प्रति घंटा के नए रिकार्ड के साथ तोड़ डाला. आरफोन ने अपनी जेट कार को ऊटाह के बॉर्नविल साल्ट फ्लैट्स में चलाया.

कैम्पबेल ने 4 जनवरी 1967 को फिर से अपना रिकार्ड तोड़ने की कोशिश की. अपनी ब्लूबर्ड के7 के साथ उन्होंने 300 मील प्रति घंटा का नया रिकार्ड बना भी डाला. लेकिन इस कोशिश में उनकी जेट नाव के आगे का हिस्सा उठा और नाव हवा में 50 फीट की उंचाई तक उछल गई. नाव के वापस पानी में गिरने पर उसके टुकड़े टुकड़े हो गए और इस हादसे में कैम्पबेल की मौत हो गई. कुल 46 साल के इस स्पीड किंग के मृत शरीर के बरामद होने में करीब 34 साल लग गए. 2001 में जाकर उनके शरीर के इकट्ठे किए गए अवशेषों को दफनाया जा सका. आज तक डोनाल्ड कैम्पबेल का एक ही साल में दो दो रिकार्ड बनाने का कीर्तिमान कोई भी नहीं तोड़ पाया है.