1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आज: 30 सितंबर

प्राकृतिक आपदाएं पृथ्वी पर जिंदगी के लिए सबसे बड़ी चुनौती हैं. 30 सितंबर 1993 में भारत ने भी ऐसी ही प्राकृतिक आपदा की मार झेली. अंधेरे में आई मौत लातूर में हजारों लोगों को लील गई.

महाराष्ट्र राज्य के लातूर जिले में करीब 20,000 लोग एक झटके में मारे गए. 30 सितंबर की सुबह करीब 3:56 पर वहां 6.4 तीव्रता का भूकंप आया. भूकंप इतना शक्तिशाली था कि लगभग पूरा लातूर ही उजड़ गया. करीब 20 हजार लोग मारे गए और 30,000 घायल हुए.

लंबे समय तक वैज्ञानिकों को भूकंप के कारण का पता नहीं चला. दक्षिण भारत के करीब वाले इस हिस्से में पृथ्वी की एक ही प्लेट है. ऐसे में वैज्ञानिक नहीं समझ पाए कि भूकंप आया क्यों. अक्सर यही कहा जाता है कि भूकंप ज्वालामुखी या प्लेटों के टकराने या रघड़ खाने से आते हैं. भारतीय प्लेट उत्तर की तरफ सरकती जा रही है.

वैज्ञानिकों के मुताबिक करोड़ों साल पहले भारत अफ्रीका से टूटा और फिर हजारों साल तक समुद्र में तैरते रहने के बाद ये एशियाई प्लेट से टकराया. टक्कर इतनी जोरदार थी कि हिमालय बना. भारतीय प्लेट आज भी एशियाई प्लेट को दबाती जा रही है. इसी वजह से हिमालय की ऊंचाई बढ़ रही है. वैज्ञानिकों ने माना कि लातूर का भूकंप इसी भूगर्भीय हलचल की वजह से आया.

DW.COM

संबंधित सामग्री