1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आज: 30 दिसंबर

1922 में आज ही के दिन यूएसएसआर की स्थापना हुई थी. करीब 7 दशकों तक एक बेहद शक्तिशाली कम्युनिस्ट राष्ट्र के रूप सोवियत संघ का अस्तित्व रहा.

रूस की क्रांति के बाद वहां यूएसएसआर यानि 'यूनियन ऑफ सोवियत सोशलिस्ट रिपब्लिक्स' की स्थापना हुई थी. इसमें रूसी संघ, बेलारूस. यूक्रेन और ट्रांसकॉकेशियन फेडरेशन के सदस्य देश शामिल थे. 1936 में ही ट्रांसकॉकेशियन फेडरेशन के देश जॉर्जिया, अजरबाइजान और अर्मीनिया रिपब्लिक में विभाजित हो गए. सोवियत यूनियन के नाम से प्रसिद्ध नया कम्युनिस्ट देश यूएसएसआर, रूसी साम्राज्य का भविष्य था. सोवियत यूनियन दुनिया भर में मार्क्स के साम्यवादी सिद्धांतों पर आधारित पहला राष्ट्र था.

1917 में रूसी क्रांति के दौरान और उसके तुरंत बाद करीब 3 साल तक चले रूसी गृह युद्ध में व्लादिमीर लेनिन के नेतृत्व वाली बोल्शेविक पार्टी ने सोवियत सेनाओं पर नियंत्रण रखा. सोवियत सेना वर्कर्स एंड सोल्जर्स कमेटी का एक ऐसा गठजोड़ थी जिसका मकसद पूर्व रूसी साम्राज्य में एक सोशलिस्ट राज्य की स्थापना करना था. यूएसएसआर में सरकार का पूरा नियंत्रण कम्युनिस्ट पार्टी और उसके पोलितब्यूरो के हाथों में था. पोलितब्यूरो के अध्यक्ष का पद सबसे शक्तिशाली पद था जो शासन का कार्यभार संभालता था. सभी सोवियत उद्योग धंधों की मिल्कियत और प्रबंधन भी राज्य के हाथों में ही था. कृषि भूमि का बंटवारा राज्य द्वारा संचालित कलेक्टिव फार्म्स के रूप में हुआ था.

1922 में स्थापना के कुछ दशक बाद रूसी आधिपत्य वाला सोवियत यूनियन दुनिया की सबसे शक्तिशाली सत्ता बन कर उभरा. इसमें - रूस, यूक्रेन, जॉर्जिया, बेलोरूसिया, उज्बेकिस्तान, अर्मेनिया, अजरबाइजान, कजाखस्तान, किर्गिस्तान, मॉल्डोवा, तुर्कमेनिस्तान, ताजिकिस्तान, लात्विया, लिथुएनिया और एस्तोनिया - ये 15 देश शामिल हुए. 1991 में क्म्युनिस्ट सरकार के पतन के साथ ही सोवियत यूनियन भी खत्म हुआ.

DW.COM