1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आज: 27 जनवरी

27 जनवरी 1926 को स्कॉटिश वैज्ञानिक जॉन लोगी बेयर्ड ने पहली बार टेलीविजन को दुनिया के सामने प्रदर्शित किया.

संचार और मनोरंजन की दुनिया में क्रांति लाते हुए जे एल बेयर्ड ने लंदन में पहला टीवी पेश किया. बेयर्ड की खोज तस्वीरें प्रसारित करने वाली एक मशीन थी जिसे उन्होंने "टेलीवाइजर" का नाम दिया. इसमें घूमने वाली मेकैनिकल डिस्क लगी थीं, जो बदलती हुई तस्वीरों को स्कैन कर उन्हें इलेक्ट्रॉनिक आवेगों में बदल सकती थीं. यह जानकारी फिर तारों के जरिए स्क्रीन तक पहुंचती थी, जहां वह काफी कम रिजोल्यूशन वाले प्रकाश और छाया के एक खास पैटर्न जैसी दिखती थी. बेयर्ड ने अपने पहले टीवी प्रोग्राम में दो कठपुतलियों के सिर दिखाए थे.

बेयर्ड का टेलीविजन सिस्टम जर्मन वैज्ञानिक पाउल निपकोव की रचना पर आधारित था. निपकोव ने 1884 में ही एक पूरे टेलीविजन सिस्टम का अपना आइडिया पेटेंट करा लिया था. निपकोव के डिजाइन में घूमने वाली डिस्क में कई सुराख थे जिनसे तस्वीरें स्कैन होती थीं. इस सिस्टम के नतीजे काफी कम गुणवत्ता वाली छायाओं के रूप में दिखे थे.

इसके बाद उनके आइडिया को विकसित करने की कोशिश कई वैज्ञानिकों ने की. बेयर्ड वह पहले व्यक्ति थे जिन्होंने पहचानी जा सकने वाली तस्वीरें पेश करने में सफलता हासिल की. बेयर्ड ने 1928 में पहला सफल ओवरसीज प्रसारण भी किया. फोन लाइन के जरिए सिग्नल लंदन से न्यूयॉर्क भेजे गए और इसी साल उन्होंने पहला रंगीन टीवी भी पेश किया.

DW.COM