1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आज: 26 दिसंबर

साल 1606 में आज ही के दिन शेक्सपियर ने अपने मशहूर नाटक किंग लियर को पहली बार इंग्लैंड के राजा जेम्स प्रथम के दरबार में पेश किया था.

महान नाटककार और अभिनेता विलियम शेक्सपियर के नाटक विश्वप्रसिद्ध हैं. 'किंग लियर' नाटक का पहला मंचन उन्होंने 26 दिसंबर 1606 को किया था. केवल 18 साल की उम्र में शेक्सपियर ने एन हैथवे से शादी रचाई और 1583 में उनकी पहली बेटी पैदा हुई. इसके बाद 1585 में इस युगल के जुड़वा बच्चे हुए. कुछ ही समय बाद शेक्सपियर अभिनेता बनने के लिए लंदन चले गए.

साल 1592 आते आते वह लंदन में थिएटर की दुनिया के एक प्रतिष्ठित अभिनेता और नाटककार बन चुके थे. अपने नाटक 'कॉमेडी ऑफ एरर्स' और 'द टेमिंग ऑफ द श्रू' उन्होंने 1590 के दशक की शुरुआत में लिखे थे. इसी दशक के अंत में उन्होंने रोमियो एंड जूलिएट (1594-1595) और मर्चेंट ऑफ वेनिस (1596-1597) जैसी कालजयी रचनाएं भी कीं. उनकी सुप्रसिद्ध मार्मिक रचनाएं जैसे हैमलेट, ओथैलो, किंग लियर और मैकबेथ 1600 के बाद लिखी गईं.

लंदन में शेक्सपियर एक लोकप्रिय रंगमंच दल 'द लॉर्ड चैम्बरलेंस मेन' के सदस्य बने. यही दल बाद में चलकर द किंग्स मेन कहलाया. यह दल ग्लोब थिएटर के नाम से प्रस्तुतियां दिया करता था. कुछ सालों में शेक्सपियर इस दल के मालिकों में से एक बन गए और कई सारी प्रस्तुतियों से भारी कमाई कर उन्होंने स्ट्रैटफोर्ड में एक आलीशान घर खरीदा.

1610 में उन्होंने अपने अंतिम नाटक लिखे जिनमें द टेंपेस्ट (1611) और द विंटर्स टेल (1610-11) का नाम आता है. इन नाटकों के अलावा उन्होंने 100 से भी ज्यादा सोनेट लिखे जो 1609 में प्रकाशित हुए. शेक्सपियर के जीते जी उनका कोई भी नाटक प्रकाशित नहीं हुआ. निधन के बाद उनके नाटक दल के दो सदस्यों ने नाटकों की प्रतियां इकट्ठी कीं और उन्हें प्रकाशित करवाया. उसे ही अब शेक्सपियर के 'फर्स्ट फोलियो' के नाम से जाना जाता है.

DW.COM