1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आज: 25 जुलाई

निसंतान दंपतियों के जीवन में आज ही का दिन उम्मीद लेकर आया था. जानते हैं क्या हुआ था आज?

दुनिया के पहली आइवीएफ शिशु लुइस ब्राउन का जन्म आज ही के दिन 1978 में इंग्लैंड के ओल्डहैम शहर में हुआ था.

उनके माता पिता लेसी और जॉन ब्राउन ने नौ साल तक संतान नहीं होने के बाद 10 नवंबर 1977 को आइवीएफ प्रक्रिया शुरू करवाई. 25 जुलाई 1978 को लुइस का जन्म हुआ. 2004 में लुइस ने वेसली मलिंडर से शादी की और 2006 में सामान्य प्रक्रिया से शिशु को जन्म दिया.

आइवीएफ यानि 'इनविट्रो फर्टिलाइजेशन' में शुक्राणु और अंडाणु का शरीर से बाहर निषेचन कराकर मां के गर्भाशय में डाला जाता है. इस प्रक्रिया का श्रेय पैट्रिक स्टेप्टो और रॉबर्ट एड्वर्ड को जाता है. एड्वर्ड को उनके काम के लिए 2010 में नोबेल पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया. फेलोपियन ट्यूब में परेशानी या शुक्राणु अंडाणु की कमी के कारण बच्चा नहीं होने की स्थिति में आईवीएफ आजकल काफी प्रचलित और पसंद की जाने वाली तकनीक है.

DW.COM