1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आज: 24 दिसंबर

अमेरिका में आज ही के दिन 1865 में केकेके नामकी एक सीक्रेट सोसायटी का गठन हुआ था. एक गुप्त समूह से अर्द्धसैनिक बल का रूप लेने वाली इस सोसायटी की दास्तान.

अमेरिका में 1850 से 1865 तक चले गृह युद्द के संघीय सदस्यों के पूर्व सैनिकों ने टेनेसी के पुलास्की शहर में मिलकर "कू क्लक्स क्लैन" (केकेके) नाम की एक सीक्रेट सोसायटी बनाई. यह एक ऐसा नस्लवादी संगठन था जिसका मकसद अमेरिका में रह रहे अफ्रीकी मूल के अश्वेत लोगों पर हमला करना और उन्हें नियंत्रण में रखना था. केकेके ने धीरे धीरे अपनी शक्ति बढ़ाई और आगे चलकर वे केन्द्र सरकार की नीतियों का पुरजोर विरोध दर्ज कराने लगे. दक्षिण अमेरिका में रहने वाली स्थानीय अफ्रीकी-अमेरिकी आबादी की बेहतरी के लिए उठाए जा रहे सरकार के कदमों से केकेके को खासी समस्या थी.

केकेके का पूरा नाम ग्रीक शब्द किक्लोस से लिया गया है. इसका अर्थ है वृत्त या गोला. यह समूह ऐसे श्वेत लोगों का था जो नस्ली तौर पर खुद को अश्वेत लोगों से ऊपर मानते थे. इस समूह ने अपनी इस विचारधारा को मनवाने के लिए हिंसा का भी इस्तेमाल किया और अफ्रीकी-अमेरिकी लोगों की बेहतरी के सभी कदमों के बीच रोड़ा बने. देश के कई हिस्सों में केकेके ने अश्वेत लोगों की संपत्ति नष्ट करना, उन्हें डराना-धमकाना और मारना जारी रखा. 1871 में कांग्रेस ने कू क्लक्स एक्ट पास किया जिसमें राष्ट्रपति उलिसेस ग्रांट को इनके खिलाफ सेना का इस्तेमाल करने की छूट मिली. इसके बाद अमेरिका की कई काउंटियों में मार्शल लॉ लगा और हजारों गिरफ्तारियां हुईं. 1882 में अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट ने इस एक्ट को असंवैधानिक करार दे दिया. मगर तब तक केकेके का प्रभाव लगभग खत्म हो गया था.