1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आज: 18 अप्रैल

आज के दिन दुनिया ने खोया उसे जिसने विज्ञान को नई गति दी. भौतिकशास्त्र के मशहूर वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टाइन का 18 अप्रैल 1955 को निधन हो गया.

भौतिक शास्त्र में महत्वपूर्ण योगदान देने वाले आइंस्टाइन ने दुनिया को सापेक्षता का सिद्धांत दिया. द्रव्यमान और ऊर्जा के बीच संबंध बताने वाला भौतिक शास्त्र का अहम समीकरण E=mc2 देने के लिए उन्हें याद किया जाता है. इसे विज्ञान जगत के सबसे अहम समीकरणों में से एक माना जाता है. 1921 में उन्हें भौतिक शास्त्र के नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया. उन्होंने विज्ञान के क्षेत्र में 300 से अधिक रिसर्च पेपर प्रकाशित किए.

14 मार्च 1879 को जर्मन शहर उल्म में एक यहूदी परिवार में पैदा हुए आइंस्टाइन बचपन से ही बहुत जहीन और शरारती थे. उनकी शरारतों के कारण उन्हें स्कूल से निकाल भी दिया गया था. क्लर्क के तौर पर नौकरी करते हुए उन्होंने गणित के समीकरणों पर काम जारी रखा. 1933 में वह जर्मनी से अमेरिका पहुंचे और वहीं बस गए. 1940 में उन्होंने अमेरिकी नागरिकता स्वीकार ली.

जीवन के आखरी दिनों में वह इंस्टीट्यूट फॉर एडवांस स्टडीज से जुड़े हुए थे. उनकी मृत्यु प्रिंस्टन के एक अस्पताल में तीन दिन भर्ती रहने के बाद 76 साल की उम्र में हुई. जीवन के अंतिम दिनों में वह अकेले रहा करते थे.

संबंधित सामग्री