1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आज: 12 अगस्त

1990 में आज ही के दिन टाइरेनोसॉरस रेक्स या 'टी रेक्स' का कंकाल शोधकर्ताओं को मिला था. इस कंकाल की मदद से वैज्ञानिकों को जीवों के विकास की प्रक्रिया के बारे में कई चीजों का पता चला.

जीवाश्मों की तलाश करने वाली सूजैन हेन्ड्रिक्सन को अमेरिका के दक्षिण डकोटा प्रांत में तीन बहुत बड़ी हड्डियां मिलीं. जांच करने पर पता चला कि ये धरती पर हुए सबसे बड़े डायनासोर, टाइरेनोसॉरस रेक्स के अवशेष हैं. इस 6.5 करोड़ साल पुराने कंकाल को 'सू' कहा गया. सू का करीब 90 फीसदी कंकाल सही सलामत था. इस कंकाल की मिल्कियत पर काफी विवाद रहा.

1992 में इस विवाद ने कानूनी रूप ले लिया और मामला अमेरिकी अदालत में पहुंचा. दलील यह थी चूंकि कंकाल केंद्र सरकार की जमीन पर मिला है इसलिए वह सरकारी संपत्ति है. 1997 में शिकागो के फील्ड म्यूजियम ने सार्वजनिक नीलामी में सू को 83 लाख 60 हजार डॉलर में खरीदा. इसमें मैकडॉनल्ड कंपनी और डिज्नी कॉर्पोरेशन ने भी निवेश किया.

मई 2000 में शिकागो फील्ड म्यूजियम में रखे गए 13 फीट ऊंचे और 42 फीट लंबे सू को देखने लोग पहुंचने लगे. सबसे बड़ा मांसाहारी डायनासोर होने की उपाधि आज भी टाइरेनोसॉरस रेक्स के नाम है जिसके सूंघने की क्षमता बेहद तेज थी. करीब 7 टन भारी टी रेक्स धरती पर रहने वाला अब तक का सबसे बड़ा परभक्षी जीव है.

लगभग 23 करोड़ साल पहले ट्रायसिक काल में सबसे पहले डायनासोरों के होने के सबूत मिले. जुरासिक काल तक आते आते इन जीवों ने धरती पर चलने और आसमान में उड़ने वाले कई तरह के विशाल रूप लिए. क्रिटेशियस काल यानि अबसे करीब साढ़े छह करोड़ साल पहले, कुछ चिड़ियों जैसे जीवों को छोड़कर बाकी सब किस्में विलुप्त हो गईं. अब वैज्ञानिकों को सबसे हल्के, लगभग एक गौरैया के आकार के उड़ने वाले 'क्विलियानिया' नाम के डायनासोर के बारे में भी पता चल चुका है. चीन के इलाके में पाए जाने वाले इस जीव का वजन 15 ग्राम से भी कम रहा होगा. डायनासोर परिवार के इन सबसे बड़े और सबसे छोटे जीवों के बीच यह भारी अंतर वैज्ञानिकों को भी हैरान कर रहा है.

DW.COM