1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आज: पांच मई

एलन शेपर्ड अंतरिक्ष में पहुंचने वाले पहले अमेरिकी नागरिक आज ही के दिन बने. 1960 के दशक में सोवियत संघ और अमेरिका के बीच धरती ही नहीं अंतरिक्ष में भी एक दूसरे से आगे निकल जाने की होड़ लगी थी.

5 मई 1961 को अमेरिका ने पहली बार नागरिक शेपर्ड को अंतरिक्ष में भेजा. इसी के साथ अमेरिका रूस के बाद अंतरिक्ष में इंसान भेजने वाला दूसरा देश बन गया. फ्रीडम 7 मिशन के तहत अमेरिका अक्टूबर 1960 से ही एलन शेपर्ड को अंतरिक्ष में भेजना चाह रहा था. लेकिन तकनीकी कारणों से इसमें रुकावटें आती रहीं.

आखिरकार 5 मई 1961 को यह मुमकिन हुआ. एलन शेपर्ड ने अंतरिक्ष में करीब 15 मिनट बिताए. शेपर्ड धरती से 187 किलोमीटर की दूरी तय करने में तो सफल रहे, लेकिन वह धरती के चारों तरफ घूम नहीं पाए. हालांकि शेपर्ड के अंतरिक्ष में जाने से पहले ही 12 अप्रैल 1961 को सोवियत संघ के हीरो यूरी गागरिन अंतरिक्ष पहुंच चुके थे. अगले 10 महीने अमेरिका के लिए काफी मुश्किल भरे रहे. 1962 में एक बार फिर अमेरिका की उम्मीदें जगीं.

20 फरवरी 1962 को अमेरिका ने 40 वर्षीय जॉन ग्लेन को अंतरिक्ष में भेजा. कहा जा सकता है कि फ्रेंडशिप 7 मरक्युरी अंतरिक्ष यान ने अमेरिका की इज्जत बचा ली. इस यान ने 296 मिनटों में धरती के तीन चक्कर लगाए. जब जॉन ग्लेन धरती पर लौटे तो वो अमेरिका के नए हीरो थे. उस वक्त राष्ट्रपति जॉन एफ केनेडी ने पूरे सम्मान के साथ ग्लेन का स्वागत किया. अमेरिका दुनिया को यह संदेश देने में कामयाब रहा कि वह भी किसी से पीछे नहीं है.

संबंधित सामग्री