1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आज: तीन सितंबर

इतिहास में वह आज ही का दिन था जब 1939 में ब्रिटेन और फ्रांस ने जर्मनी के खिलाफ युद्ध का एलान किया. मानव इतिहास की इस सबसे भयानक लड़ाई ने रूप लिया द्वितीय विश्व युद्ध का.

द्वितीय विश्व युद्ध की शुरुआत सितंबर 1939 में जर्मनी द्वारा पौलैंड पर हमले के साथ हुई. 1933 में अडोल्फ हिटलर के शासक बनने के साथ ही जर्मनी प्रथम विश्व युद्ध में मिली बेइज्जती का बदला लेने और दोबारा शक्तिशाली राष्ट्र बनने की कोशिश में जुट गया. प्रथम विश्व युद्ध में हार के बाद जर्मनी को वारसा की संधि पर जबरन हस्ताक्षर करना पड़े थे. इसके कारण उसे अपने कब्जे वाला बहुत सारा क्षेत्र छोड़ना पड़ा था. अपनी सेना सीमित करनी पड़ी और दूसरे देशों को प्रथम विश्व युद्ध में हुए नुकसान का भुगतान देना पड़ा था.

1939 से 1945 तक चले द्वितीय विश्व युद्ध में 61 देशों की थल, जल और वायु सेनाएं शामिल थीं. इस युद्ध में विश्व दो हिस्सों, मित्र राष्ट्र और धुरी राष्ट्र में बंट गया. पोलैंड पर जर्मनी के आक्रमण के बाद फ्रांस ने जर्मनी के खिलाफ युद्ध की घोषणा कर दी और ब्रिटेन, अमेरिका और योवियत संघ समेत अन्य मित्र देशों ने फ्रांस का साथ दिया. दुनिया की आबादी का लगभग अस्सी फीसदी हिस्सा द्वितीय विश्व युद्ध में प्रभावित हुआ. 1945 तक चले इस युद्ध में करीब सात करोड़ जानें गई जिनमें बहुत बड़ा हिस्सा नागरिकों का था.

DW.COM