1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आज: छह जुलाई

6 जुलाई 2006 में दो दुश्मनों ने सुलह करने की सोची और एक दूसरे के करीब आए.

1962 में भारत चीन युद्ध की वजह बंद हुआ नाथुला पास 6 जुलाई 2006 को फिर खुला. सिक्किम के इस पास से भारत और चीन के बीच व्यापार होता था. कपड़ा, साबुन, तेल, सीमेंट और यहां तक कि स्कूटर को भी सीमा के पार टट्टू पर लादकर तिब्बत भेजी जाता था. गंगटोक से तिब्बत की राजधानी ल्हासा तक 20 से लेकर 25 दिनों का सफर होता है. यह सारा सामान तिब्बत लाता था और वहां से रेशम, कच्चा ऊन, देसी शराब, कीमती पत्थर, सोने और चांदी के बर्तन लाए जाते थे.

6 जुलाई 2006 को नाथुला पास फिर खुल तो गया लेकिन इसकी पुरानी रौनक कभी नहीं लौटी. न तो दोनों देशों के रिश्ते बहुत बेहतर हुए और न ही पहले जैसा कारोबार हुआ.

भारत और चीन के बीच सीमा के अलग अलग हिस्सों में अब भी विवाद चल रहा है. क्या भारत और चीन करीब आ रहे हैं, या फिर एक दूसरे के प्रति अविश्वास के चलते चुपचाप संभावित युद्ध के लिए तैयारी भी कर रहे हैं.

DW.COM

संबंधित सामग्री