1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आज का दिन

नौकरी में हो या उससे बाहर उनकी मौजूदगी का अहसास लाखों करोड़ों लोगों में उमंग का एक झोंका ले आता है, सीने में संघर्ष का जज्बा भर देता है. भारत की बहादुर बेटी किरण बेदी आज ही के दिन धरती पर आईं.

दिल्ली में यहां वहां खड़ी गाड़ियों को उठा कर ले जाती क्रेन, भारत की सबसे विख्यात तिहाड़ जेल का कैदियों के लिए सुधार गृह में बदल जाना और इस तरह के न जाने कितने कारनामे भारत की पहली महिला आईपीएस अधिकारी किरण बेदी के हाथों और उनकी साहसी सोच से मुमकिन हुए हैं और यह सिलसिला किसी न किसी रूप में जारी है. किरण बेदी बिना थके बिना रुके चल रही हैं, लोगों को जीवन बदल रही हैं.

DW.COM

WWW-Links