1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आजः 26 अगस्त

आज के इतिहास में हम बात करेंगे एक अमेरिकी महिला की जिन्होंने दूसरे विश्व युद्ध के दौर में कई कलाकारों की पेंटिंग्स का संग्रह किया. 26 अगस्त 1898 को उनका जन्म हुआ.

मार्गेरिटे उर्फ पेगी गूगेनहाइम के पिता बेंजामिन गूगेनहाइम की 1912 में टाइटेनिक दुर्घटना में मौत हो गई. गूगेनहाइम ने 1938 से 1946 के बीच यूरोप और अमेरिका में काफी अहम कलाकृतियों का संग्रह किया.

कला में अग्रणी बुक स्टोर द सनवाइस टर्न में उन्होंने क्लर्क के तौर पर काम करना शुरू किया. यहां कला समुदाय के लोगों के साथ मुलाकात के बाद वह 1920 में वह पेरिस गई वहां उनकी कई अवांगार्द कलाकारों से मुलाकात हुई.

जनवरी 1938 में गूगेनहाइम ने लंदन में मॉडर्न आर्ट की गैलेरी खोली और कला का संग्रह करना शुरू किया. दूसरा विश्व युद्ध शुरू होने के बाद उन्होंने एब्स्ट्रैक्ट और सररियलिस्ट पेंटिग्स खरीदनी शुरू की.

उन्होंने इस कलेक्शन की कई बार प्रदर्शनी भी लगाई.

पेगी गूगेनहाइम को जल्द ही समझ में आ गया कि लोगों को गैलेरी तो पसंद आ रही है लेकिन उन्हें खुद को इससे कोई मुनाफा नहीं हो रहा. तो उन्होंने कंटेपररी आर्ट का संग्रहालय खोलने का विचार किया. फिर बना सोलोमन गूगेनहाइम फाउंडेशन. उन्होंने पिकासो, पॉल क्ली, एर्न्स्ट और डाली सहित कुछ और बड़े लोगों की पेंटिंग्स अपने संग्रह में जमा की. उनका कला संग्रह आज भी यूरोप के अहम कला संग्रहों में एक है.

बायोग्राफर एंटोन गिल के मुताबिक यूरोप में रहते समय पिगी गूगेनहाइम ने करीब एक हजार मर्दों के साथ संबंध बनाए. कई कलाकारों के साथ उनके प्रेम प्रसंग चले. गूगेनहाइम भी इससे इस तथ्य से इनकार नहीं करती. उन्होंने तो यहां तक कहा था कि विलियम बॉयड के नैट टेट जैसे चरित्र की भी वो मुहब्बत में पड़ गई थीं.

DW.COM