1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आजः 25 फरवरी

आज ही के दिन फिलीपींस की राजनीति में नया बदलाव आया था. फिलीपींस के तानाशाह फर्डिनांड मार्कोस के खिलाफ लंबा संघर्ष करने के बाद पहली बार मारिया कोराजोन अकीनो आज पहली बार देश की पहली महिला राष्ट्रपति बनी थीं.

25 फरवरी 1986 को मारिया कोराजोन अकीनो के फिलीपिंस की राष्ट्रपति बनने के साथ ही देश में तानाशाह फर्डिनांड मार्कोस का शासन भी खत्म हो गया. पूर्व नेता मार्कोस ने 1973 में देश के संविधान को बदलते हुए असीम शक्तियां हासिल कर ली थी. 7 फरवरी 1986 को हुए राष्ट्रपति चुनाव में मार्कोस पर धांधली के आरोप लगे थे. जबकि अकीनो ने भी खुदको जायज तौर विजयी करार दिया.

मार्कोस जबरन सत्ता में बने रहना चाहते थे. इसके लिए उन्होंने आपातकाल की घोषणा कर दी. लेकिन उनकी सरकार के दो वरिष्ठ मंत्रियों ने आखिरी समय में पाला बदल लिया. मार्कोस से मुंह मोड़ते हुए उन्होंने अकीनो का राष्ट्रपति पद के लिए समर्थन किया. जब मार्कोस को लगा कि देश में उनके लिए कुछ नहीं बचा है तो वह अमेरिकी वायु सेना की मदद से हवाई भागने में कामयाब रहे.

मार्कोस के देश से चले जाने के बाद मारिया कोराजोन अकीनो को देश का राष्ट्रपति बनाया गया. वे 1986 से 1992 तक फिलीपींस की राष्ट्रपति रहीं. अपने पति के साथ उन्होंने तानाशाह फर्डिनांड मार्कोस के खिलाफ संघर्ष किया था. अकीनो को लोकतंत्र की मां के नाम से भी पुकारा गया क्योंकि उन्होंने देश को एक नई दिशा दी. 1 अगस्त 2009 को अकीनो की 76 साल की उम्र में मृत्यु हो गई.

DW.COM

संबंधित सामग्री