1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

इतिहास में आजः 22 सितंबर

भारत और पाकिस्तान के बीच लड़ाई को रोकने के लिए 1965 को इसी दिन युद्ध विराम की घोषणा की गई. 1947 में आजाद हुए दोनों देशों के बीच यह दूसरा युद्ध था.

1965 की लड़ाई को दूसरा कश्मीर युद्ध भी कहा जाता है. भारत और पाकिस्तान ने कश्मीर पर नियंत्रण के लिए यह युद्ध लड़ा. अप्रैल से लेकर सितंबर तक चली लड़ाई में दोनों सेनाओं को भारी नुकसान हुआ. लड़ाई खत्म करने के लिए संयुक्त राष्ट्र ने युद्धविराम के लिए दोनों पक्षों से बातचीत की. इसके बाद भारत और पाकिस्तान के बीच शांति के लिए ताशकंद समझौते पर हस्ताक्षर हुए.

लड़ाई ज्यादातर कश्मीर में भारत और पाकिस्तान की सरहद पर हुआ. 1947 के बाद सीमा पर पहली बार 1965 में इतने ज्यादा सैनिक तैनात किए गए. इसके बाद करगिल युद्ध में भारत और पाकिस्तान ने अपनी सीमाओं पर इतने सैनिक तैनात किए. लड़ाई जमीनी स्तर पर तो हुई ही, लेकिन वायु सेना और नौसेना की भी बड़ी भूमिका रही. माना जाता है कि 1947 के बाद पहली बार इस स्तर पर भारतीय वायु सेना ने आक्रामक हमले किए.

इलाके में और तनाव को रोकने के लिए अमेरिका और उस वक्त के सोवियत संघ ने भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता की. भारत के उस वक्त के प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री और पाकिस्तान के राष्ट्रपति अय्यूब खान ने ताशकंद में समझौता किया और फैसला लिया कि फरवरी 1966 तक दोनों देश अपने सैनिक सरहद से वापस ले लेगें.

संबंधित सामग्री