1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आजः 20 मई

जीन्स पहनना किसे अच्छा नहीं लगता. इतिहास में आज का दिन है ब्लू जीन्स का दिन. दुनिया की पहली जीन्स बनाई लेवी स्ट्रॉस ने और उनका खास जर्मन कनेक्शन भी है.

सैन फ्रैंसिस्को के बिजनेसमैन लेवी स्ट्रॉस और दर्जी जेकब डेविस को इसी दिन जीन्स बनाने का पेटंट दिया गया. लेवी स्ट्रॉस जर्मनी के बवेरिया में पैदा हुए और 1847 में न्यू यॉर्क पहुंचे. 1850 में लोएब स्ट्रॉस ने अपना नाम लेवी स्ट्रॉस में बदल दिया और अमेरिका में सोने की तलाश में शामिल हो गए.
जेकब डेविस नेवादा के रेनो में एक दर्जी थे. वे लीवाई स्ट्रॉस की कंपनी से लगातार सामान खरीदते थे. एक दिन उन्होंने स्ट्रॉस को चिट्ठी लिखी और अपने नए पतलून के बारे में बताया जिसकी सिलाई में  वह धातु के बटन लगाते थे ताकि वह जल्दी फटे नहीं. डेविस के पास बड़े पैमाने पर इन पतलूनों को बनाने के पैसे नहीं थे, और

वह स्ट्रॉस से मदद मांगना चाहते थे. स्ट्रॉस को तरकीब पसंद आई और दोनों ने मिलकर इनका पेटंट बनाया. 20 मई 1873 में दोनों को अमेरिकी सरकार ने यह पेटंट दिया और ब्लू जीन्स बाजार में आने लगी.
1920 की दशक तक मजदूर और आम लोग स्ट्रॉस की जीन्स खरीदने लगे. लीवाइ्स जीन्स की स्टाइल नंबर 501 तभी से मशहूर हो गई और आज भी यह इस ब्रैंड के मंहगे जीन्स में से है. अब महिलाओं से लेकर बच्चों और पुरुष, सब यह जीन्स पसंद करते हैं.

DW.COM