1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आजः 17 फरवरी

कंबोडिया पर वियतनाम के हमले के जवाब में चीन ने आज ही के दिन वियतनाम पर धावा बोला था. 1975 में वियतनाम युद्ध के खत्म होने के बाद चीन और वियतनाम के बीच तनाव नाटकीय ढंग से चरम पर था.

17 फरवरी 1979 को चीन की सेना ने वियतनाम पर हमला किया था. असल में वियतनाम क्षेत्र में अपने प्रभाव का विस्तार करने की कोशिश में लाओस में सैन्य उपस्थिति बना चुका था. वियतनाम ने चीन के प्रतिद्वंद्वी सोवियत संघ से अपने रिश्ते मजबूत कर लिए थे. 1978 में वियतनाम ने कंबोडिया पर हमला किया था और उसके बाद कंबोडिया में पोल पॉट की नेतृत्व वाली सरकार गिर गई. पोल पॉट की सरकार को चीन का समर्थन हासिल था. वियतनाम के इस हरकत से चिढ़कर चीन की सेना ने वियतनाम पर हमला बोल दिया. सीमा पर दोनों देशों के बीच 17 फरवरी 1979 से लेकर 16 मार्च 1979 तक युद्ध चला.

इस युद्ध के बाद दोनों ही देशों ने जीत का दावा किया. युद्ध के खत्म होने के बाद चीनी सेना वियतनाम से वापस चली. वियतनाम ने भी कंबोडिया में स्थित अपने डेढ़ लाख सैनिकों को वापस बुला लिया था. 16 मार्च को चीनी सेना ने वियतनाम से वापसी करते हुए भारी तबाही मचाई. उसने वियतनाम में आधारभूत ढांचों को नष्ट कर दिया. चीन ने दावा किया उसने वियतनामी प्रतिरोध को कुचल दिया तो वियतनाम का दावा था कि चीन की सेना ने सीमा पर ज्यादातर मिलिशिया से लड़ाई लड़ी. इस युद्ध में दोनों देश के एक लाख से ज्यादा सैनिक मारे गए और हजारों घायल हुए. अगले एक दशक तक दोनों देशों के बीच तनाव का माहौल रहा.

DW.COM