1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आजः 13 सितंबर

बीते हुए दिनों, सालों और सदियों में कुछ दुखद और कुछ खुश कर देने वाली घटनाएं घटी हैं, लेकिन आज का दिन खास है. आज है दिन मुंह मीठा करने का, चॉकलेट से.

आज के दिन बस भूल जाइए कि ज्यादा मीठा खाकर आपके या आपके अपनों के दांत या सेहत खराब हो जाएगी. आज अंतरराष्ट्रीय चॉकलेट दिवस है. चॉकलेट बनता है कोको से जो थेओब्रोमा कोको नाम के पेड़ का बीज होता है.

माना जाता है कि इसका पहली बार इस्तेमाल 1100 ईसा पूर्व में हुआ. दक्षिण अमेरिकी में रहने वाले ऐजटेक सभ्यता के लोग इससे शोकोलाट्ल नाम का द्रव बनाते थे. इस शब्द का मतलब है कड़वा पानी और इसमें खमीर उठने पर ही इसका स्वाद निकलता है.

आधुनिक काल में बीजों पर खमीर उठने के बाद इन्हें सुखाया जाता है और साफ किया जाता है. फिर बीज के बाहरी परत को हटाकर इससे चॉकलेट बनाई जाती है. आजकल हम इसमें चीनी, दूध और मलाई मिलाते हैं. मिल्क चॉकलेट में मिल्क पाउडर या कंडेंस्ड मिल्क होता है और सफेद चॉकलेट केवल नाम के लिए चॉकलेट है. इसमें कोको की मलाई होती है, चीन और दूध होता है, वजन बढ़ाने की बढ़िया तरकीब.

DW.COM

संबंधित सामग्री