1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आजः 02 जुलाई

सफेद छोटी छोटी मीठी गोलियां किसे याद हैं... जो अक्सर होम्योपैथी डॉक्टर दिया करते हैं. बच्चों को इन गोलियों का खास आकर्षण रहता है. इन्हें साबुदाने की गोली भी कहा जाता था.

होम्योपैथी दवाएं भारत में बहुत लोकप्रिय है. क्या आप जानते हैं कि इसकी खोज जर्मनी के क्रिस्टियान फ्रीडरिष सामुएल हानेमान ने की थी. दुनिया भर से इस विधा के चिकित्सक दवाइयों और सामुएल हानेमान के बारे में जानकारी लेने के लिए जर्मनी आते हैं.

रोचक बात यह है कि जर्मनी में यह होम्योपैथी पर अभी भी बहस छिड़ी हुई है क्योंकि यहां के चिकित्सकों की दलील है कि बहुत डाइल्यूट होने के कारण ये दवाई काम नहीं करती. मरीज सिर्फ प्लासिबो इफेक्ट के कारण ठीक हो जाते हैं.

होमियोपैथी का अविष्कार करने वाले हानेमान का 2 जुलाई 1843 के दिन फ्रांस के पैरिस में निधन हुआ था.

DW.COM