1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

इटली में नस्ली बयान पर बवाल

इटली के दक्षिणपंथी नेता ने एक अश्वेत केंद्रीय मंत्री पर अपने बयान का बचाव करते हुए कहा है कि वह नस्लवादी नहीं है. उन्होंने अफ्रीकी मूल की आप्रवासन मंत्री सेसिल किएंगे की तुलना ओरंगुतान से की थी.

अपनी आप्रवासन विरोधी नॉर्थ लीग पार्टी की सप्ताहांत में हुई रैली में सीनेटर रोबैर्टो काल्डरेली ने कहा कि केंद्रीय मंत्री उन्हें ओरांगुटांग के बारे में सोचने को विवश करती हैं. इसके बाद से इटली में हंगामा मचा है. सीनेटर पर नस्लवादी बयान के आरोप लग रहे हैं. प्रधानमंत्री एनरिको लेटा ने सीनेटर के बयान की कड़े शब्दों में निंदा की है और उसे हर सीमा से परे बताया है.

मध्य वामपंथी अखबार ला रिपब्लिका के साथ इंटरव्यू में काल्डरोली ने कहा कि उनके बयान में कुछ भी नस्लवादी नहीं है, "मैं तो आक्रामक भी नहीं होना चाहता था." उन्होंने आप्रवासन मंत्री से ही माफी मांगने को कहा है और कहा है कि उन्हें लोगों की तुलना जानवरों से करने की आदत है. उन्होंने प्रधानमंत्री लेटा को बगुला और गृह मंत्री अंजेलीनो अलफानो को मेढक बताया.

सेसिल किएंगे 1983 से इटली में रह रही हैं. वे कांगो में पैदा हुई हैं और डॉक्टर हैं. अप्रैल में हुए संसदीय चुनावों के बाद उन्हें केंद्र सरकार में मंत्री बनाया गया. वे देश की पहली अश्वेत मंत्री हैं. गर्मियों में उनकी नियुक्ति के बाद इटली का राजनीतिक तनाव और गहरा हो गया. कोरिएरे दे ला सेरा अखबार को उन्होंने कहा कि उन्हें रोजाना अपमान का सामना करना पड़ा है और मौत की धमकियां भी मिली हैं.

पिछले महीने किएंगे जब देश के उत्तरी इलाके में गईं जो काल्डरोली की पार्टी का गढ़ है, तो उन्हें मौत की धमकियां मिलीं. विदेशी विरोधी नॉर्थ लीग ने अपनी एक स्थानीय राजनीतिज्ञ को पार्टी से इसलिए निष्कासित कर दिया कि उसने फेसबुक पर लिखा था कि किसी को किएंगे का बलात्कार करना चाहिए ताकि वह समझ सकें कि बर्बर अपराधों के शिकार क्या महसूस करते हैं. नॉर्थ लीग के नेता आप्रवासियों पर हिंसक अपराधों का आरोप लगाते हैं. किएंगे ने काल्डरोली की टिप्पणी के बाद कहा है कि राजनीतिज्ञों को इस अवसर पर विचार करना चाहिए कि वे किस तरह की बहस चाहते हैं, "मुद्दों की या अपमान की."

आप्रवासन इटली में नई प्रक्रिया है, हालांकि इटली के लोग पिछली सदी में भारी संख्या में उत्तरी और दक्षिण अमेरिका के अलावा ऑस्ट्रेलिया गए हैं. किएंगे ने कहा है कि इटली को नस्लवाद विरोधी संस्कृति का विकास करने की जरूरत है. उन्होंने कहा, "नस्लवाद का मतलब घृणा है, जो कुछ भी अलग है उससे डर है."

काल्डरोली सीनेट के उपाध्यक्ष भी हैं. उनके इस्तीफे की मांग करने वाले एक ऑनलाइन आवेदन पर 26,000 लोगों ने दस्तखत किए हैं. किएंगे की डेमोक्रैटिक पार्टी ने भी उसका समर्थन किया है. काल्डरोली को 2006 में टीशर्ट पर पैगम्बर मुहम्मद के विवादित कार्टून दिखाने के कारण सिल्वियो बैर्लुस्कोनी की सरकार से निकाल दिया गया था. इसकी वजह से कभी इटली का उपनिवेश रहे लीबिया में खूनी प्रदर्शन हुए थे.

नॉर्थ लीग पार्टी इस समय सरकार में नहीं है, लेकिन वह लंबे समय तक दक्षिणपंथी प्रधानमंत्री सिल्वियो बैर्लुसकोनी की पार्टी की निकट राजनीतिक सहयोगी रही है. इस समय बैर्लुस्कोनी की पार्टी प्रधानमंत्री लेटा की पार्टी के साथ सरकार में है.

एमजे/एजेए (डीपीए, एपी)

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री