1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

इंसान को उड़ाएंगे उबर के ड्रोन

एक दिन आएगा जब इंसान अपने ड्रोन पर सवार होगा और उड़ान भरता हुआ कहीं भी चला जाएगा. टैक्सी सर्विस कंपनी उबर इस राह में आगे बढ़ चुकी है.

उबर के प्रोडक्ट हेड जेफ होल्डन ने फ्लाइंग ड्रोन टैक्सी का एलान करने के साथ तकनीक जगत को चौंका दिया. अमेरिकी शहर नैनटकेट में एक कॉन्फ्रेंस के दौरान उबर ने पहली बार अपनी योजना के संकेत दिए. होल्डन के मुताबिक एक दशक के भीतर इंसान को उड़ाने लायक ड्रोन आसानी से बनने लगेंगे. उबर अभी से ग्राहकों को फ्लाइंग ड्रोन सेवा मुहैया कराने की तैयारी कर रही है.

इस तरह के ड्रोनों को तकनीकी भाषा में VTOL यानि वर्टिकल टेकऑफ एंड लैंडिंग एयरक्राफ्ट कहा जाता है. ये मशीनें मोटरों की मदद से उड़ान भरेंगी. कॉन्फ्रेंस के दौरान होल्डन ने यह भी कहा कि इंसानों को उड़ाने वाले ड्रोन शहरों में ट्रैफिक की समस्या को भी कम करेंगे.

ड्रोन धीरे धीरे आम जिंदगी का हिस्सा बनते जा रहे हैं. फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी के साथ ही इनका इस्तेमाल डाक और पार्सल डिलिवर करने के लिए भी किया जा रहा है. दुनिया भर में कई यूनिवर्सिटियों में इंसान को उड़ाने लायक ड्रोन बनाने पर काम हो रहा है. असल में ड्रोनों को उड़ाना इतना आसान हो चुका है कि इनका बड़े पैमाने पर इस्तेमाल होने लगा है. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के क्षेत्र में हो रही रिसर्च भविष्य में ड्रोन और रोबोटों को और बुद्धिमान बनाएगी.

DW.COM