इंग्लैंड में महिलाएं भी बनेंगी पादरी | दुनिया | DW | 13.07.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

इंग्लैंड में महिलाएं भी बनेंगी पादरी

इंग्लैंड के चर्च ने एक अहम फैसले में कहा है कि महिलाओं को भी बिशप बनने का अधिकार है. हालांकि चर्च के रूढ़िवादी सदस्य इसका विरोध कर रहे हैं. इस मामले पर लंबे वक्त से बहस चल रही है.

default

इंग्लैंड में महिलाओं को बिशप बनाने की तैयारी

इंग्लैंड के चर्च की नेशनल असेंबली जनरल साइनॉड ने 12 घंटे तक चली बैठक के बाद इस प्रस्ताव को खारिज कर दिया कि ऐसे कानून में और देरी की जानी चाहिए, जिससे महिलाओं के बिशप बनने का रास्ता साफ हो सके.

इंग्लैंड के स्थानीय चर्च अब इस प्रस्ताव पर विचार करेंगे. अगर उन्होंने इसे मान लिया तो 2012 तक यह एक बार फिर से जनरल साइनॉड के पास भेजा जाएगा. इसके बाद ही इसकी पुष्टि हो सकेगी.

कैंटरबेरी के आर्चबिशप रोवान विलियम्स ने बैठक के दौरान कहा, "हम इस मुद्दे पर कई प्रस्ताव और सुझाव देने वाले हैं, जिसके बाद कानून तैयार करने में मदद मिल सकती है. क्योंकि इस कमरे में अभी भी कुछ लोगों की प्रतिक्रियाएं मिली जुली हैं."

महिलाओं को बिशप बनाने की वकालत करने वाली क्रिस्टीना रीस ने कहा कि बैठक के बाद जो नतीजे आए हैं, वे बहुत अच्छे हैं. उन्होंने कहा, "मैं एक तरह से आश्चर्यचकित नहीं हूं. लेकिन मैं बहुत बहुत खुश हूं."

लेकिन कुछ कट्टरपंथियों ने इस तरह की चेतावनी भी दी है कि अगर ऐसा कोई फैसला होता है, तो उनमें से ज्यादातर लोग चर्च ऑफ इंग्लैंड छोड़ सकते हैं. रेवेरेन्ड प्रेबेंडरी डेविड होल्डिंग ने कहा कि अगर यह इसी रास्ते पर आगे चलता रहा तो परंपरावादियों के लिए कोई और रास्ता नहीं बचेगा. उन्होंने कहा कि कई लोग होंगे, जो इसके बाद कुछ बेहद कठोर फैसला करेंगे.

उन्होंने कहा, "मैं चर्च ऑफ इंग्लैंड में तब तक बना हूं, जब तक कि मुझे भगाया नहीं जाता. मैं अपनी इच्छा से नहीं जाऊंगा. लेकिन मुझे भगाया जा सकता है."

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः महेश झा

संबंधित सामग्री