1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

इंग्लैंड पाकिस्तानी मैचों की मेजबानी को तैयार

सुरक्षा चिताओं के कारण अलग थलग पड़े पाकिस्तानी क्रिकेट की मदद अब इंग्लैंड करेगा. इंग्लैंड क्रिकेट के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि उनका देश पाकिस्तान के घरेलू मैचों की मेजबानी करने को तैयार है.

default

घर जैसा माहौलः अफरीदी

इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष गिल्स क्लार्क ने इस बात पर ज़ोर दिया है कि उनका संगठन "ज़रूरत की घड़ी" में पाकिस्तान की मदद करने को तैयार है. वह मंगलवार को लॉर्ड्स के मैदान पर पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के बीच शुरू हो रही दो टेस्ट मैचों की श्रृंखला से पहले बोल रहे थे. दूसरा टेस्ट मैच लीड्स में होगा.

पाकिस्तानी टीम इस साल ऑस्ट्रेलिया गई थी और इन दिनों चल रही श्रृंखला पाकिस्तान में होनी थी लेकिन सुरक्षा चिंताओं के कारण ऐसा नहीं हो पाया. दोनों टीमें पिछले सप्ताह दो मैचों की टी20 श्रृंखला बर्मिघम के एजबैस्टन मैदान पर खेल चुकी हैं जिसमें पाकिस्तान 2-0 से विजयी रहा.

पिछले साल लाहौर में श्रीलंका की टीम पर हुए जानलेवा हमले के बाद से पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के लिए 'नो गो' मुल्क बन गया है, क्योंकि हमले के डर से कोई भी महत्वपूर्ण देश पाकिस्तान जाकर नहीं खेलना चाहता. इसलिए लॉर्ड के संयुक्त मालिक ईसीबी और एमसीसी पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया की श्रृंखला का आयोजन कर रहे हैं. ब्रिटेन में पाकिस्तानी टीम के बहुत से समर्थक हैं. एजबैस्टन इलाके में एशियाई मूल के लोग बड़ी संख्या में रहते हैं. पाकिस्तान के कप्तान शाहिद अफरीदी ने कहा है कि एजबैस्टन का माहौल घरेलू मैदान पर खेलने जैसा था. वहां लगभग 18 हज़ार एंग्लो पाकिस्तानी फैंस आए.

पाकिस्तान में क्रिकेट के विकास के लिए ज़रूरी है कि खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेलने का मौका मिले और दूसरी ओर युवा खिलाड़ियों को भी प्रोत्साहन मिले. क्लार्क कहते हैं कि इसे संभव बनाने के लिए पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड पीसीबी को जमीनी स्तर पर निवेश करने के लिए आवश्यक संसाधन भी देने होंगे. उनके मुताबिक, "यदि उसका मतलब इंग्लैंड और वेल्स के मैदानों पर अधिक मैचों की मेजबानी है तो इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड पीसीबी की मदद के लिए तैयार है."

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: ए कुमार