1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

इंग्लैंड ने बांग्लादेश को 144 रन से रौंदा

ऐंड्रयू स्ट्रॉस की इंग्लैंड टीम ने बांग्लादेश को तीसरे और आखिरी वनडे में 144 रन के विशाल अंतर से हरा कर मैच और सीरीज अपने नाम कर ली. दूसरे वनडे में बांग्लादेश ने इंग्लैंड को हरा कर तहलका मचा दिया था.

default

स्ट्रॉस का धमाका

लेकिन आखिरी वनडे में बांग्लादेश ऐसा कोई चमत्कार नहीं कर पाया. इसके उलट 348 रन के विशाल टारगेट के सामने उसकी टीम रेंगती नजर आई. पूरे मैच में कभी नहीं लगा कि बांग्लादेश इस स्कोर के आसपास भी कहीं पहुंचेगा और आखिर में 203 के कुल स्कोर पर पूरी टीम धराशायी हो गई.

इस तरह इंग्लैंड ने 144 रन से बड़ी जीत दर्ज करते हुए सीरीज पर 2-1 से कब्जा कर लिया. सीरीज के दूसरे वनडे में पांच रन से मात खाने के बाद इंग्लैंड को इसी तरह की जीत की दरकार रही होगी. इस जीत के लिए मानो कप्तान ऐंड्रयू

Cricket, Bangladesh, Zimbabwe

सीरीज हारा बांग्लादेश

स्ट्रॉस ने पूरा जोर लगा दिया था. उन्होंने 154 रन की बेहतरीन पारी खेली. यह उनका अब तक का सबसे बड़ा स्कोर था. इसके साथ ही उन्होंने जोनाथन ट्रॉट के साथ मिलकर 250 रन की भीमकाय साझेदारी की जो किसी भी विकेट के लिए इंग्लैंड की सबसे बड़ी साझेदारी है. ट्रॉट ने 110 रन बनाए. इससे पहले स्ट्रॉस और ऐंड्रयू फ्लिंटॉफ ने 2004 में वेस्टइंडीज के खिलाफ 226 रन की साझेदारी बनाई थी.

इस साझेदारी की मदद से इंग्लैंड ने सात विकेट खोकर 347 रन बनाए, जो उसका अब तक का दूसरा सबसे बड़ा स्कोर था. इससे पहले उसने 2005 में बांग्लादेश के खिलाफ ही 391 रन बनाए थे. हालांकि इंग्लैंड के दो खिलाड़ी जीरो पर ही पविलियन लौट गए और 3 खिलाड़ी अपने स्कोर को दो अंकों में नहीं ले जा पाए. लेकिन दूसरे विकेट के लिए 250 रन की साझेदारी ने इंग्लैंड के लिए जीत की नींव तैयार कर दी थी. रही सही कसर रवि बोपारा ने 22 बॉल्स पर 45 रन ठोक कर पूरी कर दी.

इस स्कोर का पीछा करने उतरी बांग्लादेशी टीम शुरु से ही पस्त नजर आई. उसे अपने ओपनर तमीम इकबाल से बड़ी पारी की उम्मीद थी, लेकिन वह 16 रन बनाकर चलते बने. इंग्लैंड के गेंदबाज ए. शहजाद ने 24 रन के भीतर ही दोनों ओपनर्स को पविलियन लौटा दिया था. इसके बाद भी विकेट गिरने का सिलसिला थमा नहीं. इंग्लैंड के गेंदबाजों ने बांग्लादेश को एक भी मजबूत साझेदारी बनाने का मौका नहीं दिया. महमदुल्लाह ने सबसे ज्यादा 42 रन बनाए. इसके लिए उन्हें 90 गेंदें खेलनी पड़ीं.

उधर बोपारा ने गेंद से भी ऐसा कहर बरपाया कि बांग्लादेशी पुछल्ले बल्लेबाज तो कुछ कर ही नहीं पाए. बोपारा ने 4 विकेट लेकर बांग्लादेश की पारी को 45 ओवरों में ही समेट दिया. पूरी टीम 203 रन ही बना पाई. इस तरह वह इंग्लैंड से 144 रन से पिछड़ गया. कप्तान ऐंड्रयू स्ट्रॉस को मैन ऑफ द मैच और मैन ऑफ द सीरीज दोनों अवॉर्ड्स मिले.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ए जमाल

संबंधित सामग्री